शराब की दुकानों में मिली गड़बड़ी तो तत्काल आबकारी अफसरों पर गाज

पांच आरएएस अफसरों को हटाकर ठंडी पोस्ट पर भेजा, देर रात 149 शराब दुकानों के खिलाफ कार्रवाई

 

जयपुर. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने एकाएक शनिवार को शराब की दुकानों पर गड़बड़ी पर नकेल कसने के निर्देश दिए। इसके कुछ देर बाद प्रदेशभर में छापेमारी में शराब की दुकानों पर गड़बड़ी मिली तो पांच आरएएस अफसरों पर गाज गिराने में सरकार ने देर नहीं की। रात करीब साढ़े बारह बजे आबकारी विभाग में नियुक्त पांच आरएएस अफसरों को हटाकर ठंडी पोस्ट पर भेज दिया।
सरकार ने आरएएस राजपाल सिंह यादव गंगानगर शुगर मिल्स के महाप्रबंधक के पद से हटाने के साथ राजस्थान स्टेट बेवरेजेज निगम के कार्यकारी निदेशक पद के अतिरिक्त चार्ज से तत्काल हटाने के आदेश दिए। उन्हें आइजीएनपी बीकानेर के उपायुक्त पद पर स्थानांतरित किया गया। यादव इस पद पर करीब पांच साल से नियुक्त थे। इसी तरह राजेश कुमार चौहान को जोधपुर के अतिरिक्त आयुक्त प्रशासन से हटाकर धौलपुर के महिला बाल विकास विभाग के उपनिदेशक पद पर भेज दिया। वहीं प्रदीप सिंह सांगावत को उदयपुर के अतिरिक्त आबकारी आयुक्त से हटाकर भरतपुर के भू-प्रबंध अधिकारी, शंभुदयाल मीणा को कोटा के जिला आबकारी अधिकारी से हटाकर प्रतापगढ़ के टीएडी के परियोजना निदेशक और मुन्नी राम बगडिया को भरतपुर के अतिरिक्त आबकारी आयुक्त पद से डूंगरपुर के टीएडी परियोजना अधिकारी पद पर स्थानांतरित कर दिया।

 

देर रात 149 शराब दुकानों के खिलाफ कार्रवाई

राज्य की शराब दुकानों पर कीमत से अधिक दर पर शराब बेचने और रात 8 बजे बाद भी दुकान खुली रखने वालों के खिलाफ राज्य भर में रात को चलाए गए अभियान के तहत 137 मामले अधिक कीमत पर शराब बेचने वाले लाइसेंस के खिलाफ दर्ज किए गए, वहीं 12 दुकाने रात 8 बजे बाद भी खुली हुई मिली, जिनके खिलाफ लाइसेंस शर्तों के उल्लंघन को लेकर मामले दर्ज किए गए है। यह कार्यवाही आबकारी विभाग ने मुख्यमंत्री की ओर से ली गई बैठक में दिए गए निर्देश के बाद की गई।

Shadab Ahmed Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned