EXCLUSIVE: 'राजस्थान में टारगेट-180 से ज़्यादा जिताएंगे सीटें, राजपूत समाज BJP के साथ'

Nakul Devarshi | Publish: Sep, 09 2018 02:35:13 PM (IST) | Updated: Sep, 09 2018 02:38:37 PM (IST) Jaipur, Rajasthan, India

https://www.patrika.com/rajasthan-news/

अरविन्द सिंह शक्तावत, नई दिल्ली।

राजस्थान भाजपा के प्रमुख नेताओं में उभरे केन्द्रीय मंत्री और विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा की चुनाव प्रबंधन समिति के संयोजक गजेन्द्र सिंह शेखावत ने कहा कि पूर्व उपराष्ट्रपति भैरोंसिंह शेखावत और पूर्व विदेश मंत्री जसवंत सिंह की वजह से राजपूत भाजपा के साथ जुड़े थे। कुछ एेसे घटनाक्रम हुए कि राजपूत समाज मे गलतफहमियां पैदा हो गईं, जिससे वे भाजपा से दूर हो गए। लेकिन, राजपूत समाज भाजपा का परम्परागत वोट है और फिर से वह भाजपा के साथ खड़ा होगा। जब कभी भी भाजपा और कांग्रेस का एक ही जाति का उम्मीदवार होता है तो भी समाज भाजपा को ही वोट देता है। शेखावत ने कहा, कुछ गलतफहमियां हैं, जिन्हें वे दूर करेंगे।

 

प्रस्तुत है पत्रिका से उनकी बातचीत के प्रमुख अंश-

प्रश्न: पहले अध्यक्ष की दौड़ में नम्बर एक पर थे और अब संयोजक, पार्टी का आप पर इतना विश्वास कैसे?
जवाब: यह तो भगवान का आशीर्वाद है। बड़े नेताओं का विश्वास है। यह विश्वास बना रहे। जो जिम्मेदारी मिली है, समर्पण भाव से पूरा करेंगे। आज तक जो भी जिम्मेदार दी गई है, उसे पूरा किया है।

 

प्रश्न: प्रदेश और केन्द्र में भाजपा की सरकार, एंटी इंकंबेंसी से कैसे लड़ेंगे?
जवाब: चुनाव के समय में इस शब्द का उपयोग करना एक परिपाटी बन गई है। मोदी सरकार बनने के बाद विकास की राजनीति होना शुरु हुर्ई है। जाति, धर्म, सम्प्रदाय के नाम पर राजनीति का युग समाप्त हो गया है। गुजरात विधानसभा चुनाव में भी इस शब्द का खूब इस्तेमाल हुआ, लेकिन वहां सरकार बनी। मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में लगातार सरकारें भाजपा की बन रही हैं। मुझे लगता है एंटी इंकंमबेंसी जैसा फेक्टर है ही नहीं। जहां तक देश की सरकार का सवाल है तो जिन अपेक्षाओं से भाजपा की सरकार बनाई गई थी, उससे कहीं ज्यादा काम नरेन्द्र मोदी ने किया है। पीएम ने जो वादे किए थे, उनसे कहीं ज्यादा वादे पूरे किए।

 

प्रश्न: राजस्थान में कितनी सीटें जीतेंगे?
जवाब: मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने 180 सीटों का लक्ष्य लिया है। हमारी नेता ने जो लक्ष्य लिया है, उससे कम की तो हम सोच ही नहीं रहे हैं। उससे ज्यादा ही सीटें लाने का प्रयास करेंगे।

 

प्रश्न: आपको बड़ी जिम्मेदारी दी गई है, क्या मानना है?
उत्तर: हम जिस विचार परिवार से आते हैं, वहां व्यक्ति बड़ा नहीं होता, दायित्व बड़ा होता है। जिस व्यक्ति को जिस काम के लिए उपयुक्त समझते हैं, वह जिम्मेदारी उसे दी जाती है। जो जिम्मेदारी दी गई है, उसे पूरी करना। बड़ी जिम्मेदारी है, लेकिन भाजपा के कार्यकर्ताओं के साथ मिल काम करेंगे। राजे को सीएम और 2019 में नरेन्द्र मोदी को फिर से पीएम बनाना है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned