Expensive pulses: महंगी दाल ने किसानों की दिलचस्पी बढ़ाई

महंगी दाल ( costly pulses ) ने एक बार फिर दलहनी फसलों ( Pulses crops ) की खेती के प्रति किसानों की दिलचस्पी बढ़ा दी है। चालू रबी बुवाई ( Rabi Sowing ) सीजन में दलहनी फसलों की बुवाई काफी जोर पकड़ चुकी है। किसानों ने खासतौर से चना ( gram ), मसूर ( lentils ) मटर ( peas ), उड़द ( urad ) और खेसारी की खेती में दिलचस्पी बढ़ा दी है। रबी दलहनी फसलों का रकबा पिछले साल के मुकाबले 28 फीसदी ज्यादा हो चुका है।

By: Narendra Kumar Solanki

Published: 21 Nov 2020, 09:31 AM IST

जयपुर। महंगी दाल ने एक बार फिर दलहनी फसलों की खेती के प्रति किसानों की दिलचस्पी बढ़ा दी है। चालू रबी बुवाई सीजन में दलहनी फसलों की बुवाई काफी जोर पकड़ चुकी है। किसानों ने खासतौर से चना, मसूर, मटर, उड़द और खेसारी की खेती में दिलचस्पी बढ़ा दी है। रबी दलहनी फसलों का रकबा पिछले साल के मुकाबले 28 फीसदी ज्यादा हो चुका है। केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसारए चालू रबी सीजन में अब तक 265.43 लाख हेक्टेयर में रबी फसलों की बुवाई हो चुकी है, जबकि पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान रबी फसलों का रकबा 241.66 लाख हेक्टेयर था। इस प्रकार, देश में पिछली बार के मुकाबले रबी फसलों का रकबा 23.77 लाख हेक्टेयर यानी 9.84 प्रतिशत बढ़ चुका है।
दलहनों की बुवाई 82.59 लाख हेक्टेयर में हो चुकी है, जोकि पिछले साल की समान अवधि के रकबे के मुकाबले 27.91 फीसदी अधिक है। चना की बुवाई का रकबा पिछले साल से 30.06 फीसदी बढ़कर 57.44 लाख हेक्टेयर हो चुका है, जबकि मसूर का रकबा 29.88 फीसदी बढ़कर 9.76 लाख हेक्टेयर हो चुका है। वहीं, मटर का रकबा 26.99 फीसदी बढ़कर 6.78 लाख हेक्टेयर हो गया है। खेसारी का रकबा पिछले साल से 86.10 फीसदी बढ़कर 1.50 लाख हेक्टेयर हो गया है। उड़द की बुवाई 2.14 लाख हेक्टेयर में हुई है, जोकि पिछले साल से 13.16 फीसदी अधिक है।
पिछले साल किसानों ने 52.08 लाख हेक्टेयर क्षेत्र के मुकाबले 55.53 लाख हेक्टेयर क्षेत्र पर तिलहनों की बुवाई की है। तिलहन के कुल क्षेत्र में औसत 3.45 लाख हेक्टेयर की वृद्धि हुई है। इसमें, सरसों के क्षेत्र में 4.24 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में वृद्धि हुई है, जिसमें पिछले साल के 48.01 लाख हेक्टेयर की तुलना में 52.25 लाख हेक्टेयर क्षेत्र को कवर किया गया है।
मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, पिछले वर्ष के 96.77 लाख हेक्टेयर क्षेत्र के मुकाबले 97.27 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में गेहूं बोया गया है, यानी इसके क्षेत्र कवरेज में 0.50 लाख हेक्टेयर की वृद्धि हुई है। गत वर्ष के 64.57 लाख हेक्टेयर क्षेत्र के मुकाबले दलहन 82.59 लाख हेक्टेयर में बोया गया है, यानी क्षेत्र कवरेज में 18.02 लाख हेक्टेयर की वृद्धि हुई है। मोटे अनाज का क्षेत्र पिछले साल के 21.26 लाख हेक्टेयर के मुकाबले इस बार 22.78 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में है, यानी क्षेत्र कवरेज में 1.53 लाख हेक्टेयर की वृद्धि हुई है।

Narendra Kumar Solanki Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned