फ्यूचर इंडस्ट्री में मैटेरियल साइंस पर एक्सपट्र्स ने की चर्चा

फ्यूचर इंडस्ट्री में मैटेरियल साइंस पर एक्सपट्र्स ने की चर्चा

By: Rakhi Hajela

Published: 26 Aug 2020, 05:48 PM IST

प्लास्टिक, पीवीसी समेत किसी भी प्रकार के मैटेरियल से नए उत्पाद बनाए जाने की काबिलियत इंडस्ट्री में बेहतर संभावनाएं उपलब्ध करवाएंगी। कुछ ऐसी ही बातें कहीं यूनिवर्सिटी ऑफ राजस्थान के पूर्व प्रोफेसर वाई के विजय ने। वह बुधवार को पोद्दार इंटरनेशनल कॉलेज के डिपार्टमेंट ऑफ साइंस की ओर से मैटेरियल फॉर फ्यूचर इंडस्ट्री विषय पर आयोजित वेबिनार में बतौर मुख्य वक्ता संबोधित कर रहे थे। इस वेबिनार में देश भर से बड़ी संख्या में साइंस स्टूडेंट्स, फैकल्टी तथा स्कॉलर्स ने पार्टिसिपेट किया तथा वेबिनार के दौरान अपनी क्वेरीज भी पूछी। जिनके जवाब वक्ताओं ने मौके पर दिए। वक्ताओं ने कहा कि किसी भी तरह का मैटेरियल किस तरह से अपने बेहतर उपयोग में काम आ सकता हैए इस पर फोकस किए जाने की आवश्यक्ता है। उन्होंने मैटेरियल साइंस के विभिन्न पहलुओं पर चर्चा करते हुए लो कॉस्ट तथा हाई ड्यूरेबिलिटी के उत्पाद बनाए जाने की आवश्यक्ता पर जोर दिया। इस मौके पर पोद्दार ग्रुप के चैयरमेन डॉ. आनंद पोद्दार ने वेबिनार को संबोधित करते हुए कहा कि इस तरह के वेबिनार के माध्यम से स्टूडेंट्स को मैटेरियल साइंस में उपलब्ध संभावनाओं के बारे में जानने का अवसर मिलता है। जिससे वे भविष्य में बेहतर विकल्प के आधार पर कार्य कर पाते हैं तथा अपने कॅरिअर में बेहतर चुनाव कर पाते हैं। इस मौके पर कॉलेज के प्रिंसिपल डॉक्टर प्रवीण गोस्वामी, वाइस पिं्रसिपल डॉ. मीनू मंगल, प्रो. अल्का,प्रो. पूनम धवन, प्रो. अभिनन्दन, प्रो. उत्कर्ष, शिल्पी दामोर तथा अन्य विभागों के विभागाध्यक्षों ने भी वेबिनार भाग लिया। इस वेबिनार में शहर के आईसीजी कॉलेज, अग्रवाल कॉलेज समेत अन्य कॉलेज की फैकल्टीज तथा स्टूडेंट्स ने पार्टिसिपेट किया।

Rakhi Hajela Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned