विशेषज्ञों ने डाला एआई की महत्ता पर प्रकाश


- मालवीय कॉन्वेंट स्कूल में एआई विषय पर आयोजित हुआ वेबिनार

By: Rakhi Hajela

Updated: 24 Dec 2020, 02:40 AM IST

कोविड-19 दौर के बीच शिक्षा के क्षेत्र में बड़े बदलाव देखने को मिल रहे हैं। एजुकेशनल इंस्टीट्यूशन्स ने आने वाले समय में विभिन्न क्षेत्रों में मांग के अनुसार स्टूडेंट्स के लिए कोर्सेज डिजायन करने की कवायद शुरू कर दी है। इस दौर में ऐसे कोर्सेज की लांच हुए हैं जो कि कोविड 19 माहमारी के बाद स्टूडेंट्स के लिए जॉब ओरिएन्टेड साबित हो। मालवीय कॉन्वेंट स्कूल में एआई पर आयोजित वर्कशॉप में विशेषज्ञों ने कुछ ऐसी ही बातें कहीं। एक्सपर्ट के मुताबिक ये कोर्सेज शॉर्ट टर्म से लेकर इंजीनियरिंग तक की फील्ड के होंगे, जो कि आने वाले समय में स्टूडेंट्स की प्रायोरिटी में शामिल होंगे। तकनीक पर आधारित इन कोर्सेज में आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस, आईओटी, मशीन लर्निंग, रोबोटिक्स, एन्वायरमेंट जैसी तकनीकी कोर्सेज आजकल काफी सुर्खियों में हैं। एक्सपर्ट स्वाति हरी ने बताया कि एआईसीटीई ने पहली बार एआई इंट्रोड्यूस किया है। आने वाले समय की मांग को देखते हुए पहली बार आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस और डेटा साइंस के कोर्स इंट्रोड्यूस किए हैं। इस मौके पर स्कूल के निदेशक सन्नी कपूर ने भी अपने विचार व्यक्त किए तथा एआई समेत विभिन्न नए कोर्सेज की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि साधारण शब्दों में मशीन के अंदर डेटा के स्तर एवं आधार पर दिमाग डालना ही एआई (आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस) है।

Rakhi Hajela Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned