अब विधानसभा पहुंची भाजपा की गुटबाजी, राजे समर्थकों ने कहा-सदन में हो रहा पक्षपात

Rajasthan भाजपा की बढ़ती गुटबाजी अब विधानसभा तक पहुंच गई है। पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे समर्थकों ने पहले कोटा व भरतपुर में धड़ेबंदी को हवा दी, अब इसे सदन के भीतर तक ले गए हैं।

By: santosh

Updated: 21 Feb 2021, 11:53 AM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

जयपुर। Rajasthan भाजपा की बढ़ती गुटबाजी अब विधानसभा तक पहुंच गई है। पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे समर्थकों ने पहले कोटा व भरतपुर में धड़ेबंदी को हवा दी, अब इसे सदन के भीतर तक ले गए हैं। पार्टी में राजे समर्थक माने जाने वाले 20 विधायकों ने प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया को पत्र लिखकर सदन के भीतर पक्षपात होने के आरोप लगाए हैं।

कहा है कि उन्हें जनता के मुद्दे उठाने का मौका नहीं दिया जा रहा। उन्होंने मांग की है कि नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया और उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ को ऐसी व्यवस्था के लिए कहा जाए, जिसमें सभी विधायकों को सदन में बोलने का समान अवसर मिले।

कुछ को ही मिल रहा रोजाना मौका
पत्र में विधायकों ने लिखा, पक्षपात दूर कर सभी को बोलने का समान अवसर दिया जाए। तय किया गया था कि सदन में स्थगन प्रस्ताव लगाने के लिए नेता प्रतिपक्ष और उपनेता प्रतिपक्ष रोजाना आठ विधायकों के नाम देंगे। लेकिन कुछ विधायक तो रोजाना स्थगन प्रस्ताव लगाकर जनहित के मुद्दे उठा रहे हैं और अन्य को नियमित स्थगन लगाने का पर भी बोलने का अवसर नहीं मिल रहा है।

इन विधायकों ने लिखा पत्र
पूर्व विधानसभा अध्यक्ष एवं विधायक कैलाश मेघवाल, नरपत सिंह राजवी, पुष्पेन्द्र सिंह, कालीचरण सराफ, प्रतापसिंह सिंघवी, नरेन्द्र नागर, कालू मेघवाल, गोविन्द रानीपुरिया, रामप्रताप कासनियां, बाबूलाल, अशोक डोगरा, गौतमलाल, धर्मेन्द्र मोची, रामस्वरूप लाम्बा, शंकरसिंह रावत, जोराराम कुमावत, शोभा चौहान, छगन सिंह, हरेन्द्र निनामा, गोपीराम मीणा।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned