डिजिटल इमेज प्रोसेसिंग पर फैकल्टी डवलपमेंट प्रोग्राम


देश के विभिन्न संस्थानों से शामिल हुए 200 फैकल्टी मेंबर

By: Rakhi Hajela

Published: 09 Jun 2021, 12:44 AM IST



जयपुर, 8 जून
पूर्णिमा इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी की ओर से और एआईसीटीई के सहयोग से श्रीसेंट ट्रेंड्स इन डिजिटल इमेज प्रोसेसिंग विषय पर एआईसीटीई ट्रेनिंग एंड लर्निंग फैकल्टी डवलपमेंट प्रोग्राम आयोजित किया जा रहा है। इस वर्चुअल प्रोग्राम में देशभर के विभिन्न कॉलेजों और यूनिवर्सिटीज के करीब 200 फैकल्टी मेंबर शामिल हुए। शुरुआत में मेजबान पूर्णिमा इंस्टीट्यूट के डायरेक्टर डॉ. दिनेश गोयल ने एफडीपी के वक्ताओं और प्रतिभागियों का स्वागत किया और पूर्णिमा इंस्टीट्यूट की विभिन्न गतिविधियों और उपलब्धियों पर प्रकाश डाला।
एमएनआईटी जयपुर के प्रोफेसर डॉक्टर राजेश कुमार ने प्रतिभाागियों को बताया कि डिजिटल इमेजेज की मदद से किस प्रकार इंसान के दिमाग को पढ़ा जा सकता है। नॉर्थ केप यूनिवर्सिटी, गुरुगाम की असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ.महक खुराना ने बताया कि डेटा को छिपाने में इमेजेज का किस प्रकार उपयोग किया जा सकता है। एमएनआईटी जयपुर के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. दीपक रंजन नायक ने अपने सेशन में मेडिकल क्षेत्र की वर्तमान चुनौतियों की चर्चा करते हुए इनके समाधान में डिजिटल इमेजेज की भूमिका की जानकारी दी। इस अवसर पर कंप्यूटर इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट के एचओडी दीपक मोड और प्रोग्राम कॉर्डिनेटर डॉ. अनिल कुमार भी उपस्थित थे। इस पांच दिवसीय ऑनलाइन फैकल्टी डवलपमेंट प्रोग्राम में देश की प्रमुख एनआईटी,आईआईटी व यूनिवर्सिटीज के विशेषज्ञों के टेक्निकल सेशन आयोजित किए जा रहे हैं। आर्ट ऑफ लिविंग की ओर से भी एक स्ट्रेस लेवल मैनेजमेंट सत्र भी होगा।

Rakhi Hajela Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned