पांच साल में मिलावटी घी के हजारों टिन खपाए, सस्ते होने से खूब बिके

भोजावास में सरस ब्राण्ड ( Saras Brand ) के नाम से मिलावटी घी ( Adulterated Ghee ) बेचने वाले आरोपी ने 5 साल में हजारों टिन विवाह शादियों सहित आसपास के क्षेत्रों में खपा दिए। असली के मुकाबले दाम कम होने से लोग भी घी लेते थे।

By: dinesh

Updated: 27 Nov 2019, 08:24 AM IST

कोटपूतली। भोजावास में सरस ब्राण्ड ( Saras Brand ) के नाम से मिलावटी घी ( Adulterated ghee ) बेचने वाले आरोपी ने 5 साल में हजारों टिन विवाह शादियों सहित आसपास के क्षेत्रों में खपा दिए। असली के मुकाबले दाम कम होने से लोग भी घी लेते थे।

सरूण्ड थाना प्रभारी सुभाष यादव ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी धंशी कुम्हार ने पूछताछ में बताया कि सरस ब्राण्ड के नाम से घी तैयार करने के बाद इसकी पैकिंग के लिए रैपर, कर्टन व अन्य सामान पावटा से लकर आता था। उसने तैयार मिलावटी घी के टिन के अलावा रैपर पैकिंग में एक किलोग्राम व आधा किलोग्राम के हजारों कर्टन बाजार में आपूर्ति किए हैं। एक किलोग्राम व 500 ग्राम की पैकिंग में वह कोटपूतली, पावटा के अलावा थानागाजी व नारायाणपुर में आपूर्ति करता था। बाजार में आपूर्ति किए जाने वाले माल के हिसाब से सम्बन्धित दस्तावेज पुलिस ने बरामद किए हैं। पुलिस ने आरोपी को 3 दिन के रिमांड पर लिया है।

आधे दाम पर बेचा
पूछताछ में बताया कि असली सरस घी के पीपे का भाव 6800 रुपए करीब है, जबकि वह इसे आधे दामों पर 2500 से 3000 रुपए में असली बताकर विक्रय करता था। उसके पास एक्सपायरी डेट डालने की मशीन भी बरामद हुई है।

बस्सी में मिलावटी मसालों की फैक्ट्री का मामला
वहीं बस्सी में रीको औद्योगिक क्षेत्र बस्सी स्थित फैक्ट्री से मिलावटी मसाले तैयार कर बाजार में बेचने के मामले में गिरफ्तार दो जनों को पुलिस ने न्यायालय में पेश किया। जहां से उन्हें दो दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया। पुलिस के अनुसार पूछताछ में आरोपी हरकेश पाल गुर्जर और गिरीश चन्द यादव ने मिलावटी हल्दी बनाने के लिए हल्दी में चावल की चापड़ और सिंथेटिक पीली डाई मिलाने की बात बताई है। साथ ही लाल मिर्च में गेहूं की चापड़ और रंग मिलाया जाता है। इसी तरह अन्य प्रकार के मसालों में भी मिलावट की जा रही थी। पुलिस पूछताछ में सामने आया है कि दिन में फैक्ट्री में ताला लगाकर रखा जाता था। रात्रि में मिलावटी मसाले तैयार करते थे। फैक्ट्री मालिक भी रात को ही आता था और सुबह दिन निकलते ही वैन में तैयार माल भरकर निकल जाता था। फैक्टी मालिक माल को वैन से दौसा, जयपुर व आसपास के इलाकों में खुद ही सप्लाई करता था।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned