scriptपारिवारिक कलह: कहीं मां ने बच्चों की हत्या कर दी जान तो कहीं पुलिसकर्मी ने खुद को ही गोली से उड़ाया | Patrika News
जयपुर

पारिवारिक कलह: कहीं मां ने बच्चों की हत्या कर दी जान तो कहीं पुलिसकर्मी ने खुद को ही गोली से उड़ाया

कॉन्स्टेबल की अपनी पत्नी से अनबन चल रही थी। आए दिन दोनों के बीच झगड़ा हुआ करता था। दोनों अलग-अलग रह रहे थे। सुसाइड से पहले कांस्टेबल ने अपने मोबाइल पर स्टेटस भी लगाया था। उसने लिखा था कि आज हम हैं, कल हमारी याद आएगी….।

जयपुरJun 12, 2024 / 03:34 pm

rajesh dixit

दिन भर में जानिए राजस्थान की पांच बड़ी घटनाएं

जयपुर। राजस्थान में बुधवार को दिन भर में अब तक पांच बड़ी घटनाएं सामने आई हैं। इनमें पहली घटना बाड़मेर जिले की है। यहां एक मां ने दो बच्चों की हत्या कर खुद ने भी जान दे दी है। दूसरी घटना पाली जिले से है। यहां एक कांस्टेबल ने पारिवारिक विवाद के चलते खुद को गोली मारकर खुदकुशी कर ली। तीसरी घटना श्रीगंगानगर जिले से है, यहां सेना के ट्रक और बाइक में भीषण भिडंत में तीन जनों की मौत हो गई। चौथे की हालत बेहद गंभीर बनी हुई है। चौथी घटना दौसा जिले से हैं, जहां रोडवेज की सुपर डीलक्स बस में आग लगने से बस कुछ ही मिनटों में कबाड़ में बदल गई। पांचवी घटना मिलावटखोरों के खिलाफ आई है। इसमें नकली घी फिर से पकड़ा गया है। क्राइम ब्रांच की सूचना पर छापा पड़ा और रात तक कार्रवाई चली।
आइए अब आप जानिए इन पांचों घटनाओं के बारे में विस्तार से….
पहली घटना: दो बच्चों की हत्या कर मां ने जान दे दी
-तीनों के शव टांके से मिले, कल शाम लापता हुई थी पत्नी और बच्चे
-तलाश करते करते रात हो गई, रात में टॉर्च की रोशनी में टांके से निकले शव
-पुलिस परिवार की आपसी कलह मान रही, पीहर वालों के आने के बाद होगी रिपोर्ट दर्ज

जयपुर। बाडमेर जिले में एक मां ने अपने दो मासूम बच्चों को टांके में फेंका और खुद भी कूद गई। तीनों के शव मंगलवार रात टांके से निकाले गए हैं। मामला नागाणा थाना इलाके का है। पुलिस ने बताया कि सिंधियों की ढाणी, छितर का पार गांव में कल शाम को यह घटना हुई। शव रात तक निकाले जा सके। फिलहाल तीनों के शव हॉस्पिटल की मोर्चरी में रखवाए गए हैं। पुलिस की प्रारंभिक जांच में पारिवारिक कलह के चलते सुसाइड करना सामने आया है।
—————————–
दूसरी घटना: पत्नी से विवाद के चलते सिपाही ने खुद को गोली मार ली
-रात डेढ़ बजे ड्यूटी पर था, धमाके की आवाज आई तो साथियों ने संभाला
-गर्दन के नजदीक सर्विल रिवाल्वर रखी और सिर उड़ा लिया, आठ साल की बच्ची है
-पत्नी भी कांस्टेबल है, पाली में ही महिला पुलिस थाने में तैनात है

जयपुर। पत्नी से विवाद के चलते एक सिपाही ने खुद की जान ले ली। वह थाने में तैनात था और उसकी नाइट ड्यूटी थी। देर रात करीब डेढ़ बजे उसके अन्य साथियों को धमाके की आवाज आई तो वे कमरे में दौड़े, वहां साथी सिपाही खून से लथपथ हालत में पड़ा था और सिर बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो चुका था। घटना पाली जिले में स्थित औद्योगिक नगर पुलिस थाने की है। प्रारंभिक जानकारी में सामने आया कि घटना का कारण पारिवारिक विवाद है। कॉन्स्टेबल की अपनी पत्नी से अनबन चल रही थी। आए दिन दोनों के बीच झगड़ा हुआ करता था। दोनों अलग-अलग रह रहे थे। सुसाइड से पहले कांस्टेबल ने अपने मोबाइल पर स्टेटस भी लगाया था। उसने लिखा था कि आज हम हैं, कल हमारी याद आएगी….।
—————————–

तीसरी घटना: सेना के ट्रक और बाइक में भीषण भिडंत, तीन की मौत, चौथे की हालत बेहद गंभीर
-ईंट भट्टे पर काम करने वाले चार युवक बाइक से अपने घर की ओर लौट रहे थे
जयपुर। श्री गंगानगर जिले में बीती रात भीषण सडक़ हादसा हुआ है। हादसे में तीन युवकों की मौके पर ही मौत हो गई। एक अन्य को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मृतक युवक ईंट भट्टे पर काम करते थे और काम करने के बाद अपने घर की ओर जा रहे थे। इस दौरान वो हादसे का शिकार हो गया। सूरतगढ़ सदर थाना पुलिस ने बताया कि मंगलवार रात गांव भगवानसर स्थित बाघला ईंट भट्टे से चारों युवक बाइक पर सवार होकर अपने गांव जा रहे थे। इस दौरान गांव 28 पीबीएन बस स्टैंड के पास सामने से आ रहे सेना के ट्रक और बाइक में टक्कर हो गई। टक्कर इतनी भीषण थी कि बाइक पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई। घटना की सूचना मिलने पर पुलिस और सेना के अधिकारी मौके पर पहुंचे और घायलों को सेना के अस्पताल ले जाया गया। इस दौरान गुरदयाल सिंह और अंग्रेज सिंह को डाक्टरों ने मृत घोषित कर दिया जबकि जोगेन्दर सिंह की इलाज के दौरान मौत हो गई। बाइक सवार अन्य घायल युवक राजेंद्र सिंह को ट्रॉमा सेंटर ले जाया गया, लेकिन उसकी हालत गंभीर होने पर उसे हायर सेंटर बीकानेर रेफर कर दिया गया।
—————————–

चौथी घटना: देखते-देखते राख हो गई पचास लाख रुपए की सुपर डीलक्स बस
-सरकारी बस खराब होने के कारण सवारियों को उतार दिया गया था
-चालक और मैकेनिक टोचन कर बस को ले जा रहे थे, इस दौरान टायरों में लगी थी आग
-दौसा में देर रात की करीब ढाई बजे की घटना, बस में सवार लोगों ने कूदकर जान बचाई
जयपुर। रोडवेज की सुपर डीलक्स बस में आग लगने से बस कुछ ही मिनटों में कबाड़ में बदल गई। जब तक बस में लगी आग को काबू करने का प्रयास किया गया तब तक बस का सिर्फ चेचिस ही बच सका था। बाकि पूरी बस नष्ट हो चुकी थी। घटना देर रात करीब ढाई बजे दौसा जिले की है। बस दिल्ली से जयपुर आ रही थी। लेकिन दौसा में बस खराब हो गई थी। उसके बाद सवारियों को उतार दिया गया था। बस चालक, खलासी और मैकेनिक बस को के्रन के जरिए टोचन कर ले जा रहे थे, इस दौरान बस में आग लग गई। आग लगने की यह घटना भांडारेज स्थित दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे के इंटरचेंज से गुजरते वक्त हुई है।
—————————–

पांचवी घटना: फिर पकड़ा नकली घी, क्राइम ब्रांच की सूचना पर पड़ा छापा, रात तक चली कार्रवाई
-चिकित्सा व खाद्य विभाग ने की कार्रवाई
-887 लीटर नकली घी को किया गया सीज

जयपुर। मिलावटखोरों के हौसलें बुलंद हैं। भले ही चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की ओर से एक के बाद एक कार्रवाई की जा रही है। लेकिन फिर भी बाजार में नकली तेल, घी, मसाला आदि जमकर बिक रहे है। इसी महीने विभाग की ओर से अब तक 20 से ज्यादा कार्रवाईयां की जा चुकी हैं। जिनमें नकली आईसक्रीम से लेकर नकली सोस तक पकड़ा गया है। ऐसे में अब बाजार में क्या नकली है और क्या असली है। इसे लेकर चिकित्सा विभाग लगातार मॉनिटरिंग कर रहा है। विभाग की ओर से अब एक बार फिर नकली देशी घी पकड़ा गया है। क्राइम ब्रांच की सूचना के आधार पर टीम ने रेड डालकर यह कार्रवाई की। टीम की ओर से रात तक कार्रवाई को अंजाम दिया गया। बढारणा, विश्वकर्मा इंडस्ट्रियल एरिया में कार्रवाई की गई है। जहां पर 887 लीटर घी सीज किया गया है और नकली घी सेम्पल लिए गए है।

Hindi News/ Jaipur / पारिवारिक कलह: कहीं मां ने बच्चों की हत्या कर दी जान तो कहीं पुलिसकर्मी ने खुद को ही गोली से उड़ाया

ट्रेंडिंग वीडियो