मृतक किसान पुखराज के आज घर जाएंगे पूनिया, शोक संतप्त परिजनों को बंधायेंगे ढांढस

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष का जोधपुर दौरा, मृतक किसान पुखराज के घर जायेंगे पूनिया, शोक संतप्त कृषक परिजनों को बंधायेंगे ढांढस, किसानों से भी करेंगे मुलाक़ात, जानेंगे समस्याएं

 

By: Nakul Devarshi

Published: 02 Sep 2020, 11:47 AM IST

जयपुर।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ सतीश पूनिया आज जोधपुर दौरे पर रहेंगे। वे यहां मांडियाई खुर्द गांव स्थित मृतक किसान पुखराज डोगियाल के घर जाकर शोक संतप्त कृषक परिजनों को ढांढस बंधवाएंगे। इस दौरान वे अन्य किसानों से मिलकर उनकी समस्याएं भी सुनेंगे। शोक अभिव्यक्ति के दौरान ओसियां क्षेत्र के पूर्व भाजपा विधायक भैराराम सियोल भी उनके साथ मौजूद रहेंगे।

जानकारी के अनुसार जोधपुर दौरे के दौरान पूनिया फलौदी भी जायेंगे जहां वे पूर्व जिलाध्यक्ष राधाकिशन थानवी के देहांत पर शोकाकुल परिवार को सांत्वना देंगे।

मुद्दे को उठा रही भाजपा
किसान की मौत मामले को भाजपा मुद्दा बनाकर पुरजोर तरीके से उठा रही है। हाल ही में पार्टी के ‘हल्ला बोल’ कार्यक्रम के तहत हुई प्रेस वार्ताओं में इस घटना को प्रमुखता से उठाया गया था। वहीं खुद पार्टी प्रदेश अध्यक्ष डॉ सतीश पूनिया ने इसे मुख्यमंत्री के गृह जिले से जोड़ते हुए इसे गंभीर माना था। पूनिया समेत अन्य भाजपा नेताओं ने इस तरह से किसानों की मौत को सरकार की अनदेखी को वजह बताया है।


धरने पर आया था हार्ट अटैक
गौरतलब है कि 22 वर्षीया युवा किसान पुखराज डोगियाल हाल ही में जोधपुर के माणकलाव में हुए किसान आन्दोलन के तहत दिए जा रहे धरने में शामिल हुआ था। इस दौरान हार्ट अटैक आने से उसकी मौत हो गई थी। मृतक किसान को बाद में कोरोना पॉजिटिव घोषित किया गया था जिसके बाद आन्दोलन स्थल पर हडकंप मचा और उसे स्थगित कर देना पडा।

मौत के बाद बना रहा था गतिरोध
घरने के दौरान पुखराज की मौत और फिर उसकी कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर संदेह को लेकर प्रशासन और किसानों के बीच गतिरोध बन गया था। पुखराज की दोबारा कोरोना जांच की मांग पर अड़े किसान मोर्चरी के बाहर ही धरने पर बैठ गए थे। इससे पोस्टमोरटम भी नहीं हो सकता था।

इन बातों पर बनी है सहमति
लम्बी वार्ता के बाद किसान परिवार को पांच लाख रूपए आर्थिक मदद देने पर सैद्धांतिक सहमति बनी। वहीं मृतक को शहीद का दर्जा दिए जाने, आश्रित को सरकारी नौकरी दीये जाने और किसान नेताओं पर दर्ज एफआइआर वापस लेने के सम्बन्ध में विधिक राय लेकर राज्य सरकार को प्रस्ताव बनाकर भेजने का निर्णय लिया गया। तब जाकर किसान पुखराज का अंतिम संस्कार हो सका।

Nakul Devarshi
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned