फास्ट टैग पर फंसा एनएचएआइ: 7 दिन बचे, कैशलेन से ही निकल रहे 59 फीसदी वाहन

फास्ट टैग को लेकर भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआइ) मुश्किल में है। एक से 15 दिसंबर तिथि बढ़ाने के बाद भी वाहनों में फास्ट टैग नहीं लग पा रहे हैं।

By: Kamlesh Sharma

Published: 08 Dec 2019, 05:17 PM IST

जयपुर। फास्ट टैग को लेकर भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआइ) मुश्किल में है। एक से 15 दिसंबर तिथि बढ़ाने के बाद भी वाहनों में फास्ट टैग नहीं लग पा रहे हैं। जयपुर के आठ टोल नाकों से अभी भी 59 फीसदी वाहन कैशलेन का उपयोग कर रहे हैं। यहां महज 41 फीसदी वाहनों ने फास्ट टैग लगा रखा है। रोज महज एक फीसदी वाहन ही फास्ट टैग लगा रहे हैं। पूरे प्रदेश में 72 टोल नाकों पर 40.27 फीसदी वाहनों में ही फास्ट टैग का उपयोग हो रहा है और 60 फीसदी वाहन शेष हैं। ऐसे हालात में एनएचएआई 15 दिसंबर से फास्ट टैग लागू करने को लेकर बैकफुट पर आ रहा है। सात दिन शेष होने के कारण अधिकारियों की मुश्किल आ रही है। सूत्रों के अनुसार यही स्थिति रही तो तिथि को और बढ़ाया जा सकता है।
शिविरों की कमी बड़ा कारण

फास्ट टैग को लेकर जागरूकता अभियान न चलाए जाने से ऐसी स्थिति आई है। एनएचएआइ की ओर से जयपुर में तीन स्थानों पर ही शिविर लगा रखे हैं। बाकी टोल टैक्स पर ही टैग बन रहे हैं। राजधानी में प्रेस क्लब, हाइकोर्ट, श्याम नगर में ही शिविर लगा रखे हैं।

सवाल: पांच साल बाद क्यों जागा एनएचएआई
टोल नाकों पर फास्ट टैग का नियम 2014 में निकाला गया था। ऐसे में पांच साल तक एनएचएआइ की ओर से जागरुकता नहीं की गई। अब सरकार की सख्ती के बाद चेते अधिकारियों ने फास्ट टैग को लागू करने की प्रक्रिया शुरू की है। पांच साल पहले आदेश लागू होने के साथ ही जागरुकता की जाती तो टोल को कैश मुक्त हो सकते थे।

जयपुर: दौलतपुरा टोल आगे

टोल फास्ट टैग वाहन

दौलतपुरा-------57.07

ठीकरिया-------- 50.59

मनोहरपुर--------- 48.19

किशनगढ़--------- 47.55

शाहजहांपुर--------- 47.55

नेखावाला--------- 29.28

बरखेड़ा--------- 26.06

सोनवा--------- 28.73

प्रदेश: अजमेर सबसे आगे

वाहन फास्ट टैग वाहन
अजमेर : 30.21

बाड़मेर : 12.76
बीकानेर : 23.46

चित्तौडगढ़ 47.37
दौसा 30.18

जयपुर 41.84
जोधपुर 34.42

कोटा 28.86
सवााईमाधोपुर 22.98

हनुमानगढ़ 24.45
सीकर 36.66

उदयपुर 33.22

फैक्ट फाइल
1,94,286 वाहन फास्ट टैग का कर रहे उपयोग

2681 वाहन अन्य ऑनलाइन भुगतान कर रहे

2,85,455 वाहन नकद भुगतान कर रहे हैं टोल पर

72 टोल हैं एनएचएआइ के प्रदेश में

4,82,482 वाहन टोल नाकों से निकल रहे हैं रोज प्रदेश में

9,16,30,501 रुपए वाहनों से मिल रहे हैं कुल

62.27 फीसदी वाहन फास्ट टैग का उपयोग कर रहे

95 फीसदी सर्वाधिक वाहन जोधपुर के रायपुर टोल पर कैश देकर निकल रहे


फास्ट टैग को लेकर अभी भी जागरुकता कम है। हम मांग के अनुसार शििवर लगा रहे हैं। 15 दिसंबर को फास्ट टैग लागू करेंगे या नहीं, उच्चधिकारियों के आदेश के बाद ही पता लगेगा।
-एमके जैन, क्षेत्रीय अधिकारी एनएचएआइ

Kamlesh Sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned