भुखमरी के खिलाफ अभियान 1 जुलाई से

कोरोना महामारी के कारण देशभर में भुखमरी बढ़ी है। सरकारी राहत कोष भी इसकी भरपाई नहीं कर पा रहे। हालांकि बड़ी संख्या में सामाजिक संगठनों ने इस समय में भी लोगों को खाना मुहैया करवाया है।

By: Tasneem Khan

Published: 27 Jun 2020, 05:31 PM IST

Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

जयपुर। कोरोना महामारी के कारण देशभर में भुखमरी बढ़ी है। सरकारी राहत कोष भी इसकी भरपाई नहीं कर पा रहे। हालांकि बड़ी संख्या में सामाजिक संगठनों ने इस समय में भी लोगों को खाना मुहैया करवाया है। अब एक जुलाई से मिशन 30 मिलियन शुरू होने जा रहा है। इसके तहत भुखमरी के खिलाफ राहत प्रयास अभियान चलाया जाएगा।

45 दिनों में पूरा करेंगे लक्ष्य
यह मिशन 1 जुलाई से 15 अगस्त तक चलाया जाएगा। इस दौरान देश के उन तीन करोड़ लोगों तक राहत सामग्री पहुंचाई जाएगी, जो इस महामारी में असहाय हैं। बेरोजगार लोगों, गरीब बस्तियों तक यह सामग्री पहुंचाई जाएगी। मिशन 30 मिलियन की वॉलेंटियर अंकिता का कहना है कि भुखमरी से लड़ने के लिए इस मिशन की शुरुआत की जा रही है। यह मिशन भारत में ही नहीं दुनिया के 15 देशों के सबसे प्रभावित इलाकों में जाकर लोगों को राशन मुहैया करवाएगा।
25 लाख लोगों को दी राहत
मिशन 30 मिलियन रॉबिन हुड आर्मी की ओर से चलाया जाने वाला अभियान है। इसके तहत अब तक कोरोना से बेरोजगार 25 लाख लोगों तक सहायता पहुंचाई गई है। यह युवाओं की ओर से चलाया जाने वाला अभियान है। इसके तहत कोरोना के शुरुआती दौर में दुनिया के 181 शहरों में राहत शिविर चलाया गया था।
बच्चों को पढ़ाते हैं युवा
रॉबिन हुड आर्मी से जुड़े राजील मित्तल और अक्षय अरोड़ा ने बताया कि संस्था से जुड़े युवा अपनी कॉलेज पढ़ाई के साथ बचे समय में झुग्गियों के बच्चों को निशुल्क पढ़ाते हैं। शनिवार—रविवार इन बस्तियों में जाकर युवा वॉलेंटियर बच्चों को पढ़ाने का काम करते हैं। साथ ही बच्चों को स्कूल जाने के लिए मोटिवेट करते हैं। जयपुर शहर के कई रेस्त्रां का बचा खाना इकट्ठा कर यहां की बस्तियों तक पहुंचाने का काम किया जाता है, ताकि हर घर तक खाना पहुंच सके।

COVID-19

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned