राजस्थान के शख्स से केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर का रिश्तेदार बन ठगे 16 लाख

राजस्थान के शख्स से केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर का रिश्तेदार बन ठगे 16 लाख

Santosh Kumar Trivedi | Updated: 14 Jul 2019, 08:51:11 AM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

Jaipur fraud case: बेटे का अच्छे कॉलेज में एडमिशन करवाने की सोच रहे एक पिता से बदमाशों ने करीब 16 लाख रुपए ठग लिए।

जयपुर ( jaipur hindi news ) । Jaipur fraud case : बेटे का अच्छे कॉलेज में एडमिशन करवाने की सोच रहे एक पिता से बदमाशों ने करीब 16 लाख रुपए ठग लिए। बदमाशों ने खुद को तत्कालीन केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ( prakash jawadekar ) का परिचित बताया और उनके फर्जी लैटर हैड के जरिए पीड़ित को झांसे में लिया और करीब पांच-छह बार में रुपए ठगकर फरार हो गए।

 

पीड़ित संजय नगर निवारू रोड निवासी सरकारी शिक्षक अनूप सिंह ने झोटवाड़ा थाने में रिपोर्ट दर्ज करवाई है। परिवादी ने बताया कि उनका बेटा अंशुल बी.कॉम कर रहा है। उसके फ्लैट के सामने आरोपी सुमित पुजारी व भारत भूषण मोहंती नाम के व्यक्ति रहते थे। सुमित ने दावा किया कि मंत्री जावड़ेकर उसका रिश्तेदार है और एसपी जैन कॉलेज, मुंबई में अंशुल का कोटे से दाखिला करा देगा। इसके लिए 16 लाख लगेंगे।

 

फर्जी रसीद, लैटर भेजा
आरोपियों ने पीडि़त को एडमिशन की सिफारिश के लिए मंत्री का लिखा पत्र, कॉलेज का कम्फर्मेंशन लैटर व फीस जमा रसीद भेजी। और कहा कि जुलाई से पढ़ाई के लिए भेज देना। कॉलेज में संपर्क पर पता चला कि न फीस जमा हुई न ही एडमिशन।

 

दोनों ने जमा करवाए रुपए
नवंबर, 2018 में सुमित ने कहा कि एडमिशन कंफर्म है, रुपए मेरे अकाउंट में डलवा दो। अनूप सिंह ने 2.50 लाख, 5 लाख और 50 हजार रुपए तीन बार में सुमित के खाते में डाल दिए।

 

फिर उसने कहा कि शेष राशि भारत भूषण के खाते में डाल दो तो पीडि़त ने 3.94 लाख और 4.04 लाख रुपए उसके खाते में भी डाल दिए। इसके बाद दोनों गायब हो गए और उनसे संपर्क नहीं हो सका।

 

फोटो— प्रतीकात्मक तस्वीर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned