कर्फ्यूग्रस्त क्षेत्रों में फ्लैग मार्च, पुलिस की सख्ती बढ़ी

परकोटा क्षेत्र, भट्टा बस्ती, शास्त्री नगर, विद्याधर नगर, आमेर, जालूपुरा, संजय सर्किल, लालकोठी, आदर्श नगर, खोहनागोरियान, मोती डूंगरी, ट्रांसपोर्ट नगर, जवाहर नगर, मालपुरा गेट, प्रताप नगर, बजाज नगर, सदर, करधनी, मुहाना, मानसरोवर, महेश नगर और सोडाला के चिन्हित क्षेत्र में कर्फ्यू लागू किया गया है।

By: Lalit Tiwari

Published: 29 Apr 2020, 08:22 PM IST

परकोटा क्षेत्र, भट्टा बस्ती, शास्त्री नगर, विद्याधर नगर, आमेर, जालूपुरा, संजय सर्किल, लालकोठी, आदर्श नगर, खोहनागोरियान, मोती डूंगरी, ट्रांसपोर्ट नगर, जवाहर नगर, मालपुरा गेट, प्रताप नगर, बजाज नगर, सदर, करधनी, मुहाना, मानसरोवर, महेश नगर और सोडाला के चिन्हित क्षेत्र में कर्फ्यू लागू किया गया है। कर्फ्यूग्रस्त क्षेत्रों में निर्भया स्क्वॉड टीम, क्यूआरटी, ईआरटी, एसटीएफ, आरएसी, हाडा रानी, जेब्रा और घुड़सवारों से गश्त की जा रही हैं। जयपुर शहर में कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए अब तक 28 थाना क्षेत्रों में पूरा और आंशिक कर्फ्यू लागू किया गया है। उधर पुलिस अब लॉकडाउन तोड़ने वाले लोगों को गिरफ्तार कर रही हैं। वहीं अनाधिकृत वाहन जब्त किए जा रहे हैं।

लॉकडाउन उल्लंघन करने पर 292 अनाधिकृत वाहन जब्त-
शहर में लॉकडाउन घोषणा के बाद से प्राइवेट और सार्वजनिक परिवहन के साधनों मिनी बस, बस, ऑटो टैक्सी, ई-रिक्शा आदि पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगाने के लिए 498 स्थानों पर पुलिस द्वारा नाकाबंदी की जा रही है। तथा लॉकडाउन का उल्लंघन करते हुए पाए जाने पर जयपुर शहर में 292 वाहनों को जब्त किया गया। अब तक की गई कार्रवाई में 15 हजार 094 वाहन जब्त किए गए हैं।

धारा 144 का उल्लंघन करने पर 60 जने गिरफ्तार
शहर में पांच या पांच से अधिक लोगों के एक जगह इकट्ठा होने के प्रतिबंध के बावजूद धारा 144 का उल्लंघन किया जा रहा है। पुलिस ने बुधवार को 60 जनों को गिरफ्तार किया है। गौरतलब है कि पुलिस इस मामले में अब तक 642 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी हैं।

लॉकडाउन के दौरान अब तक 220 प्रकरण दर्ज
लॉकडाउन के दौरान कालाबाजारी और आवश्यक वस्तुओं की दुकानों से भिन्न दुकानें खोलने के संबंध में अब तक 220 प्रकरण दर्ज किए गए।

सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने वालों पर होगी कार्रवाई-
शहर में सोशल मीडिया के माध्यम से कोरोना संक्रमण की विकट परिस्थिति में अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ जयपुर पुलिस की सोशल मीडिया सैल और साइबर ब्रांच कार्यवाही करेगी। कोरोना के संबंध में सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने के संबंध में अब तक 18 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। अब तक इस मामले में 11 प्रकरण दर्ज किए जा चुके है। सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने वाले की सूचना देने के लिए वाट्सअप हैल्प लाइन नम्बर 7300363636 दिए गए हैं। साइबर सैल, तकनीकी शाखा, अभय कमाण्ड और फील्ड के अधिकारी इस पर नजर रखे हुए हैं।

शेल्टर होम में रहने वाले लोगों का रखा जा रहा है ध्यान-
जयपुर शहर में पलायन कर अन्य जिलों और राज्यों से आ रहे दिहाड़ी मजदूरों के ठहरने और आवश्यक साम्रगी उपलब्ध करवाने के लिए अलग अलग थाना क्षेत्रों में शेल्टर होम स्थापित किए गए है। शेल्टर होम में बाहरी राज्यो-जिलों से पलायन कर आ रहे 1301 मजदूरों को ठहराया गया है। जिसमें राज्य के 28 और विभिन्न राज्यों के 1273 लोगों की व्यवस्था की गई है। शेल्टर होम में पर्याप्त पुलिस बल तैनात कर निरन्तर गश्त और निगरानी जारी है।

ड्रोन कैमरों से निगरानी
ड्रोन कैमरों लॉकडाउन में अपना काम बखूबी निभा रहे है। इससे पुलिस को ना केवल लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों पर नजर रखने में आसानी हो रही ब्लकि लोग डर की वजह से लॉकडाउन का पालन भी कर रहे है। ड्रोन कैमरों की लाइव मॉनिटिरिंग अभय कमाण्ड सेंटर से की जा रही है।

क्वारंटाईन सेंटर में भी सख्ती-
क्वांरटाइन केन्द्रों में आरएसी और पुलिस बल को तैनात किया गया है। पुलिस ने सख्ती तेज कर दी है। सभी क्वारटाइन केन्द्रों में सोशल डिस्टेंसिंग और कोविड 19 से सुरक्षा के लिए जारी प्रोटोकॉल की पालना के लिए राउण्ड दा क्लॉक पुलिस बल नियोजित किया गया है। पुलिस बल क्वारंटाईन केन्द्र परिसर में ही रहेगा तथा पुलिस बल का क्वारांटाईन केन्द्रों से घर थाना पर आना जाना पूरी तरह निषेध रहेगा। सभी क्वारांटाईन केन्द्रों पर पुलिसकर्मियों को मास्क, दस्ताने और सेनेटाइजर उपलब्ध करवाए गए है।

जागरूकता संदेश-
ओनली आई एण्ड यू केन ब्रेक द चेन
जयपुर पुलिस द्वारा कोरोना वायरस के मध्यनजर आम लोगों को घरों में रहने के लिए जागरूकता का संदेश दिया जा रहा है। निर्भया स्क्वॉड द्वारा गश्त निगरानी के साथ साथ कोरोना वायरस सुरक्षा के संबंध में जारी दिशा निर्देशों को प्रचारित और प्रसारित किया जा रहा है। लॉकडाउन के दौरान कोरोना का संक्रमण रोकने के लिए सामाजिक दूरी बनाने के उदेश्य से जयपुर शहर में पुलिस द्वारा लोगों को जागरूक और प्रेरित कर सोशल डिस्टेसिंग के लिए कहा जा रहा हैं।

Lalit Tiwari Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned