बारिश...बाढ़...बर्बादी...फिर भी हुई शादी

Anand Kumar

Publish: Jul, 14 2019 04:07:44 PM (IST)

Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

उत्तर प्रदेश में पिछले कई दिनों से हुई लगातार बारिश से कई जिलों में बाढ़ जैसे हालात हो गए हैं. नदियों का जलस्तर बढ़ गया है, जिससे दर्जनों गांव बाढ़ से घिर गए हैं. अयोध्या जिले में सरयू नदी का जलस्तर चेतावनी का निशान पार कर गया है. नदी का जलस्तर सुबह 91.86 मीटर दर्ज किया गया, जिससे तटवर्ती इलाकों में हड़कंप मच गया है. स्थानीय लोगों ने पलायन शुरू कर दिया है। देवरिया में तो पानी जिलाधिकारी, जिला आबकारी अधिकारी के कार्यालय और थाने में पानी भर गया है. इसके कारण लोगों को मुसीबत का सामना करना पड़ रहा है.
लगातार बारिश से बिहार में दस जिलों में बाढ़ की स्थिति गंभीर हो गयी है. सीतामढ़ी, मोतिहारी, मधुबनी, सुपौल,सहरसा,अररिया, किशनगंज, कटिहार, भागलपुर व पूर्णिया की स्थिति सबसे खराब है. देर रात कोसी बराज के सभी 56 फाटक खोल दिये गये. कोसी बराज के ऊपर लाल बत्ती जलायी गयी. अभियंताओं की टीम कोसी बराज पर कैंप कर रही है. वहीं विभिन्न जिलों में बाढ़ में डूबने के कारण अब तक 16 लोगों की मौत होने की सूचना है. गंडक बराज से 2.1 लाख क्यूसेक पानी छोड़े जाने से गंडक नदी का जलस्तर बढ़ने लगा है. वहीं रात 12 बजे नेपाल के कोसी बराज से 3.89 लाख क्यूसेक पानी छोड़ा गया.साल के बाद कोसी के जलस्राव में इस तरह रिकार्ड तोड़ वृद्धि हुई है. बाढ़ के कारण कई प्रखंडों सहित दर्जनों गांवों का जिला मुख्यालय से संपर्क भंग हो गया है. सैकड़ों गांव टापू बन गये हैं.पिछले 24 घंटे में नेपाल सहित राज्य में बारिश से मोतिहारी और मधुबनी जिले में बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है.मोतिहारी, सीतामढ़ी और मधुबनी जिले में सुपौल और दरभंगा से एनडीआरएफ की टीम भेजी गयी है. विभाग के इंजीनियर और अधिकारी संवेदनशील स्थलों पर तैनात किये गये हैं. बाढ़ से सुरक्षा के बंदोबस्त किये गये हैं.
भारी बारिश के बाद अब असम में बाढ़ ने कहर बरपाया है.राज्य के 33 में से 25 जिलों में बाढ़ की वजह से करीब 15 लाख लोग प्रभावित हैं.अगले कुछ दिनों में और बारिश की आशंका है, ऐसे में स्थिति और बिगड़ सकती है.असम में बाढ़ की चपेट में आकर मरने वालों की संख्या 7 हो गई है.वहीं,अरुणाचल प्रदेश और मिजोरम में बारिश से संबंधित घटनाओं में दो-दो लोगों ने अपनी जान गंवाई.ब्रह्मपुत्र और उसकी सहायक नदियों के पानी से जूझ रहे असम राज्य के 33 जिलों में बाढ़ की स्थिति गंभीर बनी हुई है.दूसरी तरफ,पश्चिम बंगाल में सेतीझोरा और कालीझोरा के बीच लगभग पांच स्थानों पर पहाड़ियों का एक बड़ा हिस्सा ढह गया है और राजमार्ग अवरुद्ध हो गया है.
नेपाल में हुई भारी बारिश के बाद आई बाढ़ और भूस्खलन का कहर जारी है। इस वजह से अब तक 43 लोगों की मौत हो गई है जबकि 24 से ज्यादा लोग लापता हैं। जानकारी के मुताबिक, 20 से ज्यादा लोग घायल है। साथ ही 50 से अधीक लोगों को रेस्क्यू कर लिया गया है। बाढ़ से नेपाल में ज्यादातर इलाकों में पानी भर गया। फिलहाल, बचान टीमें राहत और खोज कार्यों में लगी हुई हैं। खोज और बचाव कार्यों के लिए देश भर में कुल 27,380 पुलिस कर्मियों को तैनात किया गया है। काठमांडू घाटी में लगभग 8,856 कर्मियों को तैनात किया गया था। जहां बाढ़ आई है उन्हें वहां से निकालकर सुरक्षित इलाकों पर भेज दिया गया है। यातायात बुरी तरह से प्रभावित है। सभी प्रमुख राजमार्गों पर लोगों की आवाजाही बाधित है। करीब 6000 लोग बाढ़ के पानी से बुरी तरह प्रभावित हुए हैं। अधिकारियों ने जानकारी दी कि ललितपुर, कावरे, कोटंग, भोजपुर और मकनपुर सहित विभिन्न जिलों से लोगों के मारे जाने की सूचना है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned