कीटोजेनिक डाइट में शामिल करें ये फूड्स

इन दिनों कीटोजेनिक डाइट का प्रचलन बढ़ गया है। इसमें काब्र्स की मात्रा कम होती है और फैट की मात्रा ज्यादा होती है, तेजी से वजन कम करने के साथ ही डायबिटीज को नियंत्रित करती है। आइए जानते हैं कुछ ऐसे फूड्स के बारे में जिन्हें कीटोजेनिक डाइट में शामिल किया जा सकता है।

By: Archana Kumawat

Published: 12 Feb 2021, 07:16 PM IST

1. लो काब्र्स वेजिटेबल्स - नो स्टार्ची फूड्स को डाइट में शामिल करें। इसमें कैलोरी और काब्र्स की मात्रा कम होती है। पोषक तत्त्वों की मात्रा ज्यादा होती है। इस तरह की डाइट से विटामिन सी और कई तरह के मिनरल्स की पूर्ति की जा सकती है। इसमें पत्तागोभी, ब्रोकली, फूलगोभी, बींस, पालक, टमाटर, एवोकाडो आदि को शामिल किया जा सकता है।
2. चीज - कीटो डाइट में चीज को विशेष रूप से शामिल किया जाता है। इसमें काब्र्स की मात्रा कम और फैट मात्रा ज्यादा होती है। 25 ग्राम चीज में एक ग्राम काब्र्स, 6.4 ग्राम प्रोटीन और अच्छी मात्रा में कैल्शियम मिलता है। चीज में सैचुरेटेड फैट की मात्रा ज्यादा होती है। हृदय रोगों की आशंका कम करता है।
3. नारियल तेल - कीटोजेनिक डाइट में नारियल तेल का प्रयोग करना भी लाभकारी है। नारियल का तेल वजन कम करने के साथ ही पेट के आसपास की चर्बी को भी घटाता है। नारियल का तेल अल्जाइमर्स के रोगियों में कीटोन लेवल को बढ़ाने का काम भी करता है।
4. ऑलिव ऑयल - ऑलिव ऑयल हृदय रोगियों के लिए बहुत लाभकारी है। ऑलिव ऑयल में मोनोसैचुरेटेड फैट होता है। इसमें पाए जाने वाले कंपाउंड इंफ्लेमेशन को कम करते हैं। ऑलिव ऑयल एंटी ऑक्सीडेंट्स के लिए भी बेहतर विकल्प है।

Archana Kumawat
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned