जैन मंदिर में डकैती मामले में एक महिला सहित चार गिरफ्तार

मंदिर से चुराई एक मूर्ति और छत्र भी बरामद

By: Lalit Tiwari

Published: 14 Feb 2021, 05:16 PM IST

बजाज नगर थाना पुलिस ने महावीर नगर स्थित दिंगम्बर जैन मंदिर में डकैती डालकर मूर्ति चुराने के मामले में एक महिला सहित चार जनों को और गिरफ्तार किया हैं। पुलिस ने उनके कब्जे से एक मूर्ति और मंदिर से चुराया हुआ छत्र भी बरामद कर लिया हैं। आरोपियों ने बदमाशों को अपने नामों से मोबाइल सिम उपलब्ध करवाई थी। पुलिस इस मामले में अब तक
छह लोगों को गिरफ्तार कर चुकी हैं।
डीसीपी (पूर्व) अभिजीत सिंह ने बताया कि 4 फरवरी को बजाज नगर स्थित महावीर नगर में प्राचीन दिगम्बर जैन मंदिर में डकैती की वारदात में चोरी गई एक अष्टधातु की मूर्ति और चांदी का छत्र बरामद कर लिया। पुलिस ने 12 फरवरी को आरोपी सुनील चौधरी और सतीश चंद सोनी को गिरफ्तार किया था जो अभी पुलिस रिमांड पर चल रहे हैं। पुलिस ने जैन मंदिर से
चुराई गई मूर्ति को सुनील चौधरी की निशानदेही पर जोबनेर से तथा सतीश चंद सोनी से चांदी का छत्र फागी से बरामद करवाया हैं। पुलिस ने इस मामले में जोबनेर निवासी गणेश चौधरी उर्फ गणेश जाट (32) और ढाणी बोराज जोबनेर निवासी सुरेश जाट (27) पुत्र नारायण लाल और सुरेश कुमार प्रजापत (21) पुत्र हनुमान लाल और गीता देवी (35) पत्नी किशन चौधरी को गिरफ्तार किया हैं।

मूर्ति का काट दिया हाथ-
पुलिस ने मूर्ति बरामद की तो उसमें एक हाथ कटा हुआ है। पुलिस ने बताया कि आरोपी यह जान रहे थे कि मूर्ति सोने की है। इसके लिए उन्होंने काटकर इसे चैक करवाया था।

बदमाशों का किया था सहयोग-
आरोपी सुरेश जाट और गणेश चौधरी उर्फ गणेश जाट ने घटना की वारदात को आसान बनाने और पुलिस की पकड़ से बचने के लिए अपने नाम की आईडी से मोबाइल सिम जारी करवाकर अपराधी सुनील चौधरी और गणेश जाट को उपयोग के लिए दी। आरोपी सुरेश प्रजापत ने घटना में चुराए गए चांदी के छत्रों में से आरोपी सतीश चंद सोनी को बेचे गए एक छत्र के बदले
प्राप्त रकम में से अपना हिस्सा रखते हुए मुख्य अपराधियों के कहे अनुसार बैंक खातों में जमा करवाकर कुछ को नगद देकर अपराध में सहयोग किया और घटना के समय आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध करवाई। आरोपी गीता चौधरी ने वारदात को सफल बनाने के लिए अपने घर पर योजना बनाने और वारदात के बाद चोरी की मूर्ति स्वयं के घर छिपाने तथा वारदात के समय की साम्रगी को खुदबुर्द कराने में सहयोग किया। घटना के बाद पुलिस कार्रवाई और अन्य फीडबैक अपराधियों तक व्हाट्सप से पहुंचाई। पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर रही हैं।

Show More
Lalit Tiwari Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned