जेबतराश गिरोह के चार बदमाश गिरफ्तार

शहर के अलग अलग क्षेत्रों में 100 से अधिक वारदातों को दिया अंजाम

By: Lalit Tiwari

Published: 12 Jun 2021, 08:31 PM IST

बजाज नगर थाना पुलिस ने जेब काटने वाले गिरोह का पर्दाफाश कर चार बदमाशों को पकड़ा हैं। बदमाशों ने जयपुर शहर के अलग अलग क्षेत्रों में 100 से अधिक वारदातों को अंजाम दिया। आरोपी पहले मिनी बस और लो फ्लोर बसों में जेब तराशी करते थे। लॉकडाउन के दौरान ऑटो में सवारी बैठाकर जेबतराशी कर रहे थे। पुलिस ने उनके कब्जे से ऑटो जब्त कर जेब तराशी में चुराए हुए रुपए बरामद किए हैं।
थानाप्रभारी रमेश सैनी ने बताया कि गिरोह के महावीर शर्मा (22) निवासी टीला नम्बर 7 कच्ची बस्ती जवाहर नगर, लक्की खटीक (21) निवासी खटीको का मोहल्ला लवाण जिला दौसा हाल इन्द्रा गांधी नगर खो नागोरियान,राजू वर्मा (32) निवासी गांव बाडीजोडी शाहपुरा हाल टीला नम्बर 6 कच्ची बस्ती जवाहर नगर और महेन्द्र सिह (29) निवासी गांव देसवाल कुचेरा जिला नागौर हाल एवरेस्ट कॉलोनी ज्योति नगर को गिरफ्तार किया हैं।

पूछताछ मे सामने आया कि पहले बसों में जेब तराशों की वारदातें करते थे, लेकिन लॉकडाउन के चलते ऑटो में बैठ कर नशे की लत की पूर्ति करने के लिए वारदाते करने लगे। आरोपित ने तीन दिन यूपी से जयपुर अपने बेटे के इलाज कराने आए बृज किशोर की जेब में ब्लेड से कट लगा कर 50 हजार रुपये निकालने की वारदात को अंजाम देना कबूला है।
गौरतलब बृज किशोर निवासी ग्वालियर रोड सेवला जाट सदर बाजार आगरा यूपी ने मामला दर्ज कराया था कि उसका बेटा एसएमएस अस्पताल में भर्ती है,जिसके चलते वह जयपुर आया था और नीबूं लेने के लिए एक ऑटो में बैठ कर लालकोठी मंडी जा रहा था। उसी ऑटो में पहले से दो—तीन सवारियां बैठी थी। ऑटो चालक ने उसको भी ऑटो में बैठाकर लक्ष्मी मंदिर चौराहे टोक रोड तक छोड कर चला गया। ऑटो में सफर के दौरान सवारी ने उसकी जेब में ब्लेड से कट लगा कर 50 हजार रुपए निकाल फरार हो गए थे

इस तरह देते थे वारदात को अंजाम-
लॉकडाउन के दौरान मिनी बसों और लो फ्लोर बसों का आवागमन बंद हो जाने से ये लोग जेब तराशी की घटना नहीं कर पा रहे थे। इस पर उन्होंने नया तरीका इजाद करके ऑटो चालक को अपने गैंग का सदस्य बनाया।

Show More
Lalit Tiwari Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned