हनीट्रेप में महिला सहित चार जने गिरफ्तार

शिवदासपुरा थाना पुलिस का कार्रवाई

By: Lalit Tiwari

Published: 01 Sep 2020, 10:18 PM IST

शिवदासपुरा थाना पुलिस ने हनीट्रेप में एक महिला सहित चार जनों को पकड़ा हैं। डीसीपी (दक्षिण) मनोज चौधरी ने बताया कि 31 जुलाई को पीड़ित ने थाने में मामला दर्ज करवाया था। जिसमें बताया कि एक महिला ने उससे आगे से चलकर दोस्ती का प्रस्ताव रखा। अब उसके साथियों के साथ मिलकर बलात्कार के झूठे मुकदमें में फंसाने की धमकी देकर 20 लाख रुपए मांग रही है। जिसमें से 5 लाख रुपए ले लिए है और अब 15 लाख रुपए और देने के लिए धमकियां देकर लगातार दबाव बना रही है। इस पर थानाप्रभारी इन्द्राज मारोडिया के नेतृत्व में एक टीम गठित की गई। टीम ने कार्रवाई करते हुए गांव सवासा लालसोट दौसा से गोनेर पुलिया के पास शिवदासपुरा निवासी महिला (28), गोवर्धन विलास उदयपुर निवासी राजेन्द्र उर्फ राज, गंगापुर सिटी सवाई माधोपुर निवासी सोनू गुर्जर और नादौती करौली निवासी योगेन्द्र (24) को ब्लैकमेल की राशि लेते गिरफ्तार कर लिया। इस घटना के आपराधिक षड़यंत्र का मास्टर माइंड 25 मई को पांच लाख रुपए लेकर फरार हुए अपराधी मौसिन और आसिफ की गिरफ्तीर के लिए टीमें रवाना की गई। जिनके गुजरात महाराष्ट्र भागने की पूरी आशंका हैं।

देशी कट्टा और एक लाख रुपए बरामद-
पुलिस ने बताया कि आरोपियों से परिवादी द्वारा दी गई एक लाख रुपए की नगद राशि, कार और आरोपी राजेन्द्र उर्फ राज के कब्जे से एक देशी कट्टा और कारतूस बरामद किया।

तरीका वारदात-
आरोपी इज्जतदार और पैसो वाले लोगों के बारे में जानकारी प्राप्त कर उनके मोबाइल नम्बर लेकर अपनी महिला साथी को ऐसे लोगों के मोबाइल नम्बर पर वाट्सअप पर मैसेज व कॉल करवाकर उनको प्रेम जाल में फंसाकर कमरे में बुलाकर उनका कोई भी वीडियो बनाते है। फिर भी वीडियो वायरल करने और बलात्कार के मुदकमें फंसाने की धमकियां देकर मोटी रकम ऐठते हैं। गैंग पीड़ित से अब तक पांच लाख रुपए ऐठ चुकी हैं। अब 15 लाख रुपए सोमवार को लेने की धमकी दी गई थी। पुलिस ने परिवादी को धमकी से नही डरकर पुलिस के बताए अनुसार तैयार जाल में अपराधियों की हनी ट्रेप गैंग को फंसा लिया। पुलिस ने परिवादी को पूर्व से चिन्हित एक लाख रुपए देकर परिवाद से मना करवा दिया कि 15 लाख रुपए नहीं दे सकता। दो तीन लाख रुपए दे सकता हूं। ज्यादा रुपए से तो अच्छा है मर जाऊगा। इस पर शाति अपराधि कुछ राशि और कुछ बाद में लेने को तैयार हुए। गैंग ने 27 अगस्त को 5 लाख रुपए वसूले। इसमें गैंग के दो अन्य साथी रुपए लेकर फरार हो गए और फोन बंद कर लिया। ऐसी परिस्थिति में गैंग के अपराधी और महिला कम पैसों पर सौदा करने के लिए मजबूर हो गए। पैसा लेते समय पुलिस ने उन्हें दबोच लिया।

Show More
Lalit Tiwari Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned