scriptFunding crisis and fierce layoffs in startups sword hanging on the job | स्टार्टअप्स में फंडिंग संकट और भयंकर छंटनी,50 हजार लोगों की नौकरी पर लटकी तलवार | Patrika News

स्टार्टअप्स में फंडिंग संकट और भयंकर छंटनी,50 हजार लोगों की नौकरी पर लटकी तलवार

लगातार बढ़ती महंगाई, ब्याज दरों में इजाफा, भू-राजनीतिक संकट व शेयर बाजारों में उठापटक के कारण भारत सहित दुनियाभर के स्टार्टअप फंडिंग के संकट से जूझ रहे हैं, जिससे स्टार्टअप इको-सिस्टम में बड़े पैमाने पर कर्मचारियों की छंटनी हो रही है। इससे भारतीय स्टार्टअप्स और यूनिकॉर्न का मुनाफा भी प्रभावित हो रहा है। वर्ष 2022 में अब तक 57 भारतीय स्टार्टअप्स ने 10 करोड़ डॉलर या उससे अधिक की फंडिंग जुटाई है, हालांकि इनमें से केवल 3.5% कंपनियां ही मुनाफा कमा रही हैं।

जयपुर

Published: July 04, 2022 09:16:28 pm

लगातार बढ़ती महंगाई, ब्याज दरों में इजाफा, भू-राजनीतिक संकट व शेयर बाजारों में उठापटक के कारण भारत सहित दुनियाभर के स्टार्टअप फंडिंग के संकट से जूझ रहे हैं, जिससे स्टार्टअप इको-सिस्टम में बड़े पैमाने पर कर्मचारियों की छंटनी हो रही है। इससे भारतीय स्टार्टअप्स और यूनिकॉर्न का मुनाफा भी प्रभावित हो रहा है। वर्ष 2022 में अब तक 57 भारतीय स्टार्टअप्स ने 10 करोड़ डॉलर या उससे अधिक की फंडिंग जुटाई है, हालांकि इनमें से केवल 3.5% कंपनियां ही मुनाफा कमा रही हैं।
startup.jpg
वित्तीय तनाव में है स्टार्टअप इकोसिस्टम
2021 की समान अवधि में 48 स्टार्टअप्स ने 10 करोड़ डॉलर से अधिक जुटाए और इनमें 29% मुनाफे में थे। कंपनियों की संख्या बढ़ने के बावजूद फंडिंग की रकम लगभग उतनी ही रही जितनी पिछले साल थी। इन्वेस्टमेंट फर्म वेंचर इंटेलिजेंस के आंकड़ों के मुताबिक, केवल 3.5% कंपनियों ने ही अपना एबिटडा सकारात्मक दिखाया है, जबकि पिछले साल ऐसी कंपनियां 29.2% थीं। इससे पता चलता है कि भारत का स्टार्टअप इकोसिस्टम वित्तीय तनाव में है।
छंटनी जारी रहेगी
2022 में अब तक अमरीकी स्टार्टअप्स ने जहां 22,000 से अधिक आइटी प्रोफेशनल्स की छंटनी की है। वहीं भारतीय स्टार्टअप भी अपने 12,000 से अधिक स्टाफ को निकाल चुके हैं। हुरुण इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, 2022 के खत्म होते-होते नौकरी से स्टाफ को निकाले जाने वाले कर्मचारियों की संख्या 60,000 के पार पहुंच सकती है। ओला, ब्लिंकिट, बायजूस, अनएकेडमी, वेदांतू, लीडो लर्निंग,जैसे स्टार्टअप ऑर यूनिकॉर्न हजारों स्टाफ की छंटनी कर चुके हैं। आगे भी छंटनी जारी रहने की आशंका है।
फंडिंग के नजरिए में बदलाव
निवेशक अब भविष्य में ग्रोथ संभावनाओं के बजाय स्टार्टअप्स का प्रॉफिट देखकर इन्वेस्ट कर रहे हैं। पिछले कुछ समय से निवेशक प्रॉफिट देखे बिना स्टार्टअप के ग्रोथ प्रोस्पेक्ट पर ही फंडिंग मुहैया करा देते थे। लेकिन अब ऐसा नहीं किया जा रहा है और फंडिंग देने के लिए प्रॉफिट महत्वपूर्ण पहलू बन गया है।
newsletter

Anand Mani Tripathi

आनंद मणि त्रिपाठी (@aanandmani) राजनीति, अपराध, विदेश, रक्षा एवं सामरिक मामलों के पत्रकार हैं। पत्रकारिता के तीनों माध्यम प्रिंट, टीवी और आनलाइन में गहरा और अपनी तेज तर्रार रिपोर्टिंग के लिए जाने जाते हैं। पश्चिम बंगाल के कलकत्ता में जन्म हुआ। प्रारंभिक शिक्षा उत्तर प्रदेश के कानपुर और बस्ती में हुई। माध्यमिक शिक्षा नवोदय विद्यालय बस्ती, फैजाबाद और पूर्वोत्तर त्रिपुरा के धलाई जिले में हुई। अयोध्या के साकेत महाविद्यालय से स्नातक और 2009 में जेआईआईएमसी,दिल्ली से पत्रकारिता का डिप्लोमा किया। हरियाणा से पत्रकारिता आरंभ की। शिक्षा, विज्ञान, मौसम, रेलवे, प्रशासन, कृषि विभाग और मंत्रालय की रिपोर्टिंग की। इंवेस्टिगेटिव रिपोर्टिंग से शिक्षा और रेलवे विभाग के कई भ्रष्टाचार का खुलासा किया। रक्षा मंत्रालय के रक्षा संवाददाता पाठयक्रम-2016 पूरा किया। इसके बाद रक्षा मामलों की पत्रकारिता शुरू कर दी। चीन, पाकिस्तान और कश्मीर मामलों पर तीक्ष्ण नजर रहती है। लेफ्टिनेंट उमर फैयाज की हत्या 2017, राइफलमैन औरंगजेब की हत्या 2018, जम्मू—कश्मीर में बदले 2018 में बदले राजनीतिक समीकरण, पुलवामा हमला 2019, कश्मीर से 370 का हटना, गलवान घाटी मुठभेड़ 2020 को बेहद करीब से जम्मू और कश्मीर में रहकर ही कवर किया। कोरोना काल 2020 में भी लददाख से नेपाल तक की यात्रा चीन के बदलते समीकरण को लेकर की। इसके साथ ही लोकसभा चुनाव 2019 में जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा और पंजाब की रिपोर्टिंग की। 9 नवंबर 2019 को श्रीराम जन्म भूमि अयोध्या मामले में आए फैसले की अयोध्या से कवर किया। 2022 उत्तरप्रदेश् चुनाव को सहारनपुर से सोनभद्र तक मोटर साइकिल के माध्यम से कवर किया। पत्रकारिता से इतर आनंद मणि त्रिपाठी को संगीत और पर्यटन का जबरदस्त शौक है। इन्हें किसी भी कार्य में असंभव शब्द न प्रयोग करने के लिए जाना जाता है...

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

जाने-माने लेखक सलमान रुश्दी पर न्यूयॉर्क में जानलेवा हमला, चाकुओं से गोदकर किया घायलमनीष सिसोदिया का BJP पर निशाना, कहा - 'रेवड़ी बोलकर मजाक उड़ाने वाले चला रहे दोस्तवादी मॉडल'सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद बोले तेजस्वी यादव- 'नीतीश जी का हमसे हाथ मिलाना BJP के मुंह पर तमाचे की तरह''स्मोक वार्निंग' के कारण मालदीव जा रही 'गो फर्स्ट' की फ्लाइट की हुई कोयंबटूर में इमरजेंसी लैंडिंगHimachal Pradesh News: रामपुर के रनपु गांव में लैंडस्लाइड से एक महिला की मौत, 4 घायलMaharashtra Politics: चंद्रशेखर बावनकुले बने महाराष्ट्र बीजेपी के अध्यक्ष, आशीष शेलार को मिली मुंबई की कमानममता बनर्जी को बड़ा झटका, TMC के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पवन वर्मा ने पार्टी से दिया इस्तीफामाकपा विधायक ने दिया विवादित बयान, जम्मू-कश्मीर को बताया 'भारत अधिकृत जम्मू-कश्मीर'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.