scriptGajendra Singh Shekhawat Ashok Gehlot Tweet War Latest Update | राजस्थान: 'चरम' पर पहुंचा Gajendra Singh Shekhawat V/S Ashok Gehlot, अब आई ये खबर | Patrika News

राजस्थान: 'चरम' पर पहुंचा Gajendra Singh Shekhawat V/S Ashok Gehlot, अब आई ये खबर

- राजस्थान: जारी है केंद्रीय मंत्री और मुख्यमंत्री के बीच 'ट्वीट वार' - अब गजेंद्र सिंह शेखावत का सीएम अशोक गहलोत पर पलटवार - कहा, 'गहलोत के बयानों में दिख रही पुत्र हार की खीज' - 'जोधपुर लोकसभा सीट का परिणाम नहीं भूले हैं गहलोत' - 'मुझे अपना सबसे बड़ा शत्रु मान बैठे हैं, लेकिन मुझे उनसे सहानुभूति है' - 'गहलोत को ले लेना चाहिए संन्यास, उनकी पार्टी के लोग भी यही चाहते हैं'

जयपुर

Published: April 11, 2022 12:45:00 pm

जयपुर।

केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत और राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बीच 'ट्विटर वार' जारी है। आज सुबह पहले सीएम गहलोत ने एक के बाद एक तीन ट्वीट करके केंद्रीय मंत्री शेखावत को निशाने पर लिया।इसके कुछ ही देर बाद शेखावत ने भी पलटवार में चार ट्वीट्स से मुख्यमंत्री को निशाने पर लिया।

Gajendra Singh Shekhawat Ashok Gehlot Tweet War Latest Update

पुत्र हार की दिख रही खीज

शेखावत ने कहा कि मुख्यमंत्री के बयानों में मुझे जोधपुर में उनके पुत्र की हार की खीझ सुनाई देती है।वे आज तक जोधपुर लोकसभा सीट का परिणाम नहीं भूल पाए हैं, जिसमें जनता जनार्दन ने मोदीजी को प्रधानमंत्री बनाने के लिए मुझे आशीर्वाद दिया था।

'वे शत्रु मानते हैं, मुझे सहानुभूति है'

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री गहलोत तब से मुझे अपना सबसे बड़ा शत्रु मान बैठे हैं लेकिन मुझे उनसे सहानुभूति है। वे मुझे उकसाने के लिए न केवल सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग करते हैं बल्कि स्वयं भी अनर्गल वक्तव्य देते रहते हैं।


'गहलोत को संन्यास लेना चाहिए'

शेखावत ने कहा कि मैंने तो मुख्यमंत्री को चुनौती दी है कि वे मोदीजी पर लगाए अपने निहायत मनगढ़ंत आरोप साबित करके बताएं, लेकिन वे प्रमाण देने की बजाय मुख्य मुद्दे को बहस में उलझाना चाहते हैं। उनकी तरह उनकी राजनीति का तरीका अप्रासंगिक हो चुका है। उन्हें अब राजनीति से सन्यास ले लेना चाहिए, उनकी पार्टी के लोग भी यही चाहते हैं।

पहले सीएम गहलोत ने किया था 'वार'

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत बीते तीन दिन से केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत पर लगातार हमलावर हैं। सोमवार को भी गहलोत ने शेखावत को निशाने पर लिया। सुबह ट्वीट करते हुए गहलोत ने लिखा, 'हमारी मंशा है कि पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना (ERCP) का काम शीघ्र पूरा हो जिससे पूर्वी राजस्थान के 13 जिलों को पेयजल व सिंचाई का पानी मिल सके। प्रदेश सरकार ने ERCP पर अभी तक करीब 1000 करोड़ का व्यय किए हैं एवं इस बजट में 9600 करोड़ प्रस्तावित किए हैं।'

गहलोत ने कहा, 'राज्य सरकार के सीमित संसाधनों से इस परियोजना को पूरा होने में 15 साल लग जाएंगे एवं परियोजना की लागत भी बढ़ती जाएगी। केन्द्र सरकार इसे राष्ट्रीय परियोजना का दर्जा देती है तो वहां से ग्रांट मिलने पर काम भी तेजी से पूरा होगा एवं कम लागत में काम हो सकेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा, 'यह समझ के परे है कि राजस्थान जैसे रेगिस्तानी एवं जल अभावग्रस्त राज्य को पानी की परियोजना को नेशनल प्रोजेक्ट का दर्जा नहीं मिलेगा तो किस राज्य को मिलेगा? यह स्थिति तो तब है जब यहां के सांसद ही जलशक्ति मंत्री हैं पर वो प्रदेश के लिए कुछ नहीं कर रहे हैं'।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

नाइजीरिया के चर्च में कार्यक्रम के दौरान मची भगदड़ से 31 की मौत, कई घायल, मृतकों में ज्यादातर बच्चे शामिल'पीएम मोदी ने बनाया भारत को मजबूत, जवाहरलाल नेहरू से उनकी नहीं की जा सकती तुलना'- कर्नाटक के सीएम बसवराज बोम्मईमहाराष्ट्र में Omicron के B.A.4 वेरिएंट के 5 और B.A.5 के 3 मामले आए सामने, अलर्ट जारीAsia Cup Hockey 2022: सुपर 4 राउंड के अपने पहले मैच में भारत ने जापान को 2-1 से हरायाRBI की रिपोर्ट का दावा - 'आपके पास मौजूद कैश हो सकता है नकली'कुत्ता घुमाने वाले IAS दम्पती के बचाव में उतरीं मेनका गांधी, ट्रांसफर पर नाराजगी जताईDGCA ने इंडिगो पर लगाया 5 लाख रुपए का जुर्माना, विकलांग बच्चे को प्लेन में चढ़ने से रोका थापंजाबः राज्यसभा चुनाव के लिए AAP के प्रत्याशियों की घोषणा, दोनों को मिल चुका पद्म श्री अवार्ड
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.