सिंजारा आज, कल होगी गणगौर: न घेवर की खुशबू और न ही मेंहदी की महक, ऐसे करें घर पर पूजा

राजस्थान की महिलाओं का सबसे प्रिय और पसंदीदा लोकपर्व गणगौर ( Gangaur 2020 ) की रौनक इस बार कोरोना वायरस संक्रमण का डर और लॉकआउट के चलते फीकी करेगी। शायद यह पहली बार ही होगा जब महिलाएं बिना घेवर के सिंजारा मनाएंगी। लॉकआउट के चलते शहर में सभी हलवाइयों की दुकानें बंद हैं...

जयपुर। राजस्थान की महिलाओं का सबसे प्रिय और पसंदीदा लोकपर्व गणगौर ( Gangaur 2020 ) की रौनक इस बार कोरोना वायरस संक्रमण का डर और लॉकआउट के चलते फीकी करेगी। शायद यह पहली बार ही होगा जब महिलाएं बिना घेवर के सिंजारा मनाएंगी। लॉकआउट के चलते शहर में सभी हलवाइयों की दुकानें बंद हैं। पिछले साल जहां हर चौराहे, माॅल और बाजारों पर मेहंदी लगवाने वाली महिलाओं और मेहंदी मांडने वाले डिजाइनरों से बाजार रात 12:00-12:30 बजे तक आबाद थे। वहीं, इस बार सूने रहेंगे। महिलाएं घरों में ही मेहंदी लाएंगी। कोई नए कपड़े और शृंगार की सामग्री भी नहीं खरीद सकेंगी। कोरोना के डर के चलते घरों से भी रौनक घायब है। लोगों ने भी सजगता दिखाते हुए भीड़भाड़ से दूर रहना ही उचित समझाा है।

ऐसे करें घर पर पूजा

ज्योतिषाचार्यो का कहना है कि सामाजिक दूरी जरुरी है, ऐसे में महिलाएं घर पर ही माटी के इसर और गणगौर की प्रतिमा बनाकर उनकी पूजा कर सकती हैं। उसके बाद इनको तुलसी पौधे में रख दें और पौधें को पानी से सींच दें तो इसर गणगौर भी तुलसी में मिल जाएंगे। इस तरह से अपने घरों में रहकर ही आसानी से पूजा पाठ किया जा सकता है। गौरलतब है कि इस बार सभी मेले भी रद्द कर दिए गए हैं।

नहीं निकलेगी गणगौर माता की सवारी
राज्य सरकार द्वारा जनहित में किए गए लॉकडाउन के चलते इस बार गणगौर पर्व ( Gangaur Festival 2020 ) भी रद्द रहेगा। इस चलते शहर वासियों के साथ ही सैलानियों को प्रदेश की रंगारंग संस्कृति और लोक गीत — संगीत के दर्शन नहीं हो सकेंगे। दरअसल हर वर्ष गणगौर पर्व के दौरान दो दिनों तक सिटी पैलेस से निकलने वाली गणगौर माता की परंपरागत सवारी ( Gangaur Fair in Jaipur ) नहीं निकलेगी। ओएसडी रामू रामदेव के मुताबिक सिटी पैलेस में गणगौर माता की पूजा—अर्चना कर समृद्धि और शांति की कामना की जाएगी।

Dinesh Saini Correspondent
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned