Lawrence Bishoni गैंग ने मिलाया इस बड़े बदमाश से हाथ.... पंजाब, हरियाणा, राजस्थान के बाद अब इस स्टेट में एंट्री.. पुलिस को टेंशन

हांलाकि लाॅरेंस और उसके खास गुर्गें संपत को प्रोडक्शन वारंट पर पूछताछ के लिए जयपुर लाया गया है।

By: JAYANT SHARMA

Published: 25 Sep 2021, 01:29 PM IST

जयपुर
पंजाब, हरियाणा और राजस्थान के बाद अब Lawrence Gang ने दिल्ली के बडे़ बदमाशों ने गठबंधन करना शुरु कर दिया है। इसका सीधा फायदा गैंग को ये मिलना है कि अब तक लाॅरेंस के जितने भी खास लोगों को पुलिस ने अलग अलग राज्यों में बंद कर रखा है और वे वसूली नहीं कर सकते। ऐसे हालातों में अब उन नए बदमाशों को गैंग से जोड़ा जा रहा है जो जेल से बाहर हैं लाॅरेंस गैंग के लिए वसूली कर सकते हैं। ऐसे ही एक बड़े बदमाश शाहरुख के बारे में पलिस को जानकारी मिली है कि वह लाॅरेंग गैंग से जुड़ा है और दिल्ली समेत पंजाब, हरियाणा, राजस्थान में बड़ी वारदातें कर सकता है। हांलाकि लाॅरेंस और उसके खास गुर्गें संपत को प्रोडक्शन वारंट पर पूछताछ के लिए Jaipur लाया गया है।

शाहरुख गैंग को अब लाॅरेंस गैंग का सपोर्ट, राजस्थान पुलिस की भी टेंशन बढ़ी
दरअसल चार मर्डर और एक हत्या के प्रयास के मामले में वॉन्टेड कुख्यात गैंगस्टर शाहरुख के सिर पर लॉरेंस बिश्नोई गैंग ने अपना हाथ रख दिया है। दिल्ली समेत पांच राज्यों में क्राइम सिंडिकेट चला रहा बिश्नोई गैंग शाहरुख की फरारी में मदद कर रहा है। पुलिस सूत्रों का दावा है कि तिहाड़ जेल से चल रहे इस क्राइम नेटवर्क में साउथ दिल्ली के शाहरुख की एंट्री यमुनापार के गैंगस्टर हाशिम बाबा ने करवाई है।

बाबा के जेल जाने के बाद शाहरुख ही उसके गैंग को संभाल रहा था। करीब डेढ़ साल से सिरदर्द बने इस दो लाख इनामी गैंगस्टर को पकड़ने के लिए स्पेशल सेल और क्राइम ब्रांच के अलावा साउथ, नॉर्थ ईस्ट और ईस्ट जिले की टीमें लगी हैं। साउथ दिल्ली के आंबेडकर नगर इलाके में शाहरुख की रवि गंगवाल गैंग से गैंगवॉर चल रही थी। यमुनापार में वह गैंगस्टर हाशिम बाबा के लिए काम कर रहा थाए जिसकी गैंगस्टर अब्दुल नासिर से गैंगवॉर चल रही है। सभी गैंगस्टर्स के जेल में होने से साउथ दिल्ली और यमुनापार में शाहरुख का दबदबा बढ़ गया।

लाॅरेंस ने शाहरुख की मदद की थी फरारी काटने में, पंजाब-हरियाणा में छुपाया था उसे
दिल्ली के जाफराबाद में बाबा के इशारे पर 25 मई को मर्डर के करने के बाद शाहरुख को लॉरेंस बिश्नोई गैंग ने हिसार में फरारी काटने में मदद की। इससे पहले वह Delhi के बिंदापुर में छिपा था। पुलिस सूत्रों ने बताया कि उसकी आखिरी लोकेशन पंजाब के जिरकपुर मिली थी। लेकिन पुलिस टीम के पहुंचने से पहले ही वह फरार हो गया। गौतरलब है कि लॉरेंस बिश्नोई और संपत नेहरा दोनों ही मकोका के तहत Tihar Jail में बंद हैं।

बाबा ने संपत नेहरा के जरिए ही शाहरुख की उनके गैंग में एंट्री करवाई है। पुलिस को शक है कि लॉरेंस बिश्नोई गैंग शाहरुख का इस्तेमाल Punjab, Rajasthan और Hariyana में कर सकता है। पुलिस अफसरों का मानना है कि कई इंटर स्टेट गैंग उसकी मदद कर रहे हैं। उसकी तफ्तीश की जा रही है।

JAYANT SHARMA Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned