आखिर बाहर आई पपला की Girl Friend जिया, ढाई महीने बाद जेल की सलाखों से मिली आजादी

बहरोड़ थाने पर फायरिंग का मामला : गैंगस्टर पपला की महिला मित्र को मिली राजस्थान हाईकोर्ट से जमानत, पपला का फर्जी आधार कार्ड तैयार कराने के मामले में करीब ढाई माह पहले किया था गिरफ्तार

By: pushpendra shekhawat

Published: 06 Apr 2021, 11:58 PM IST

जयपुर। बहरोड़ थाने पर फायरिंग कर फरार हुए पपला गुर्जर की महिला मित्र को राजस्थान हाईकोर्ट ने जमानत पर रिहा करने का आदेश दिया है। उस पर सितम्बर 2019 में फरार हुए पपला गुर्जर का फरारी के दौरान सहयोग करने के आरोप है। उसे कोल्हापुर में शरण देने और पपला का फर्जी आधार कार्ड तैयार कराने के मामले में करीब ढाई माह पहले गिरफ्तार किया गया था। पुलिस ने जिया को पपला के साथ ही गिरफ्तार किया था।

न्यायाधीश महेन्द्र कुमार गोयल ने जिया चन्द सिकलगर की जमानत याचिका मंजूर करते हुए यह आदेश दिया। प्रार्थिया की ओर से अधिवक्ता महेश गुप्ता ने कोर्ट को बताया कि पपला के साथ रहने के दौरान उसे पपला के गैंगस्टर होने की जानकारी नहीं थी। पपला का फर्जी आधार कार्ड बनवाने का आरोप है, लेकिन चार्जशीट में इस बारे में कोई खास तथ्य नहीं है।

जमानत योग्य मामला है और पूर्व में याचिकाकर्ता का कोई आपराधिक रिकॉर्ड भी नहीं है। अब आरोप पत्र पेश हो चुका है और ट्रायल में समय लगने की संभावना है। इस कारण उसे जमानत पर रिहा किया जाए। सरकार की ओर से राजकीय अधिवक्ता राजेन्द्र यादव ने कहा कि पपला खतरनाक अपराधी है, उसे शरण देने के साथ ही उसका फर्जी आधार कार्ड भी तैयार करवाया।

मामले की गंभीरता देखते हुए जमानत का लाभ नहीं दिया जाए। कोर्ट ने तथ्यों को ध्यान में रखते हुए एक लाख रुपए के निजी मुचलके और 50-50 हजार रुपए की दो जमानत के आधार पर रिहा करने का आदेश दिया।

Show More
pushpendra shekhawat Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned