जयपुर सेंट्रल जेल से आई बड़ी खबर.... एक थप्पड़ का लिया इतना खतरनाक बदला

मिली जानकारी के अनुसार बंदी सुरेन्द्र उर्फ बंटी ने मुकदमा दर्ज कराया। बंटी का कहना था कि अजय, रामकुमार, सोनू, राजेन्द्र, जयंत समेत अन्य बंदियों ने उसके और उसके साथी पर हमला किया।

By: JAYANT SHARMA

Published: 03 Apr 2021, 12:57 PM IST

जयपुर
जयपुर #Jaipur-jail सेंट्रल जेल में मामूली बात को लेकर बवाल हो गया। गंभीर धाराओं में बंद #Gangwar बंदी आपस में भिड़ गए और एक दूसरे पर हमला बोल दिया। गनीमत रही कि मारपीट के दौरान किसी को गंभीर चोटें नहीं आई। बाद में #Jail जेल प्रशासन ने बंदियों को अलग-अलग सैल में बंद किया और उसके बाद खूंखार बंदियों को वहां से अन्य जेलों में तबादला कर दिया गया। अब लालकोठी पुलिस#Jaipur-police इस पूरे मामले की जांच कर रही है।

फोन बूथ पर बात करने को लेकर शुरु हुआ था विवाद
पूरा घटनाक्रम दो दिन पहले का है। दरअसल विवाद जेल में लगे #Phone-call फोन बूथ पर शुरु हुआ और उसके बाद सैल नंबर दो तक आ पहुंचा। मिली जानकारी के अनुसार बंदी सुरेन्द्र उर्फ बंटी ने मुकदमा दर्ज कराया। बंटी का कहना था कि अजय, रामकुमार, सोनू, राजेन्द्र, जयंत समेत अन्य बंदियों ने उसके और उसके साथी पर हमला किया। फोन बूथ पर हुए विवाद के दौरान सुरेन्द्र पक्ष के एक बंदी ने दूसरे पक्ष के एक बंदी के तमाजा जड़ दिया। उसके बाद जैसे ही विवाद शुरु होता जेल प्रहरियों ने आकर इसे काबू कर लिया और सभी बंदियों को अलग कर दिया। लेकिन कुछ देर के बाद अजय, राजकुमार, सोनू समेत दूसरा पक्ष बैरक नंबर दो में पहुंचा और वहां पहले से ही मौजूद सुरेन्द्र, सीताराम और अन्य पर हमला कर दिया। उनको बुरी तरह से मारपीट की गई। हांलाकि कुछ ही देर में अन्य जेल प्रहरी वहां आ पहुंचे। जेल प्रबंधन ने इस विवाद के बाद एक बंदी का मेडिकल कराया है। उसके जबडे में चोट हैं। उधर इस पूरे घटनाक्रम के बाद अधिकतर बंदियों का तबादला अन्य जेलों में कर दिया गया है। कुछ बंदियों को अलवर, कुछ को भरतपुर और अजमेर जेलों में शिफ्ट कर दिया गया है।

हत्या और अन्य गंभीर धाराओं में बंद थे बंदी
पुलिस ने बताया कि बैरक नंबर दो में कई बंदी बंद हैं। जिन बंदियों ने आपस में मारपीट की उनमें से अधिकतर हत्या और अन्य गंभीर धाराओं में बंद हैं। पहले तो दोनो ही पक्षों ने मुकदमा दर्ज करान से इंकार कर दिया। बाद में पुलिस ने सख्ती दिखाई तो एक पक्ष ने मुकदमा दर्ज कर लिया। लालकोठी थाने के एएसआई कैलाश चंद्र पूरे मामले की जांच कर रहे हैं।

दोनो ही गैंग खतरनाक.... अजय चैधरी पर तो पुलिसवालों की हत्या का आरोप
पुलिस ने बताया कि मारपीट करने वाली दोनो ही गैंग खतरनाक है। मारपीट करने वाले एक पक्ष अजय चैधरी पर तो सीकर में दो साल पहले पुलिसकर्मियों की हत्या का आरोप है। आरोप है कि उसने और उसकी गैंग ने सीकर मे एक बड़ी वारदात करने की तैयारी के दौरान बीच में आए एसएचओ मुकेश कानूनगो और एक अन्य पुलिसकर्मी को गोली मार दी थी। दोनो की हत्या करने के बाद पूरी गैंग फरार हो गई थी। वहीं दूसरे पक्ष बंटी भी जयपुर में झालाना में इंद्र कुमार नाम के एक व्यक्ति की हत्या के आरोप में आरोपी है। बताया जा रहा है कि जेल से ही इस हत्याकांड को कुछ साल पहले अंजाम दिया गया था। अन्य बंदी भी मारपीट और हत्या की धाराओं में बंद हैं।

JAYANT SHARMA Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned