भरतपुर में चल रही गांजा फैक्ट्री पकड़ी

स्पेशल टीम ने पकड़ा गांजा

By: Lalit Tiwari

Published: 29 Jun 2020, 11:07 PM IST

जयपुर पुलिस कमिश्नरेट की स्पेशल टीम ने मादक पदार्थों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है। इसे अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई बताया जा रहा है। पुलिस ने करीब तेरह सौ किलो गांजा बरामद कर लिया है और अभी और भी माल बरामद होने की उम्मीद है। फिलहाल इस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया है। ये दोनो मिलकर ही पूरे प्रदेश में इस नेटवर्क को चला रहे थे और डिमांड के अनुसार माल की सप्लाई भी कर रहे थें। जिस फैक्ट्री से माल बरामद किया गया है वह भरतपुर के नदबई में हैं।
एडिशनल कमिश्नर अशोक गुप्ता ने बताया कि पुलिस ने तस्करों पर कार्रवाई करते हुए पंचमुखी उर्फ इन्द्रा, करण सांसी, सूरज बिड़ाया, अजय कुमार, पंकज यादव को गिरफ्तार किया गया था। पुलिस ने इस मामले में कार्रवाई करते हुए मथुरा उ.प्र निवासी रामवतार सिंह (36) , लखनपुर भरतपुर निवासी भूपेन्द्र सिंह (23) को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार किए गए भूपेन्द्र सिंह ने पूछताछ में बताया कि उसका मर्चेन्ट नेवी में सलेक्शन हो चुका था और ज्वाइनिंग आने वाली थी, लेकिन आरोपी गांजा तस्करी में भारी मुनाफे का मोह नहीं छोड़ पाया और लगातार मादक पदार्थ गांजे की तस्करी और डिलीवरी अपने जीजा रामवतार सिंह के साथ मिलकर करता रहा और अपने जीजा को अपने गांव के पास ही किराए पर गोदाम दिलवा दिया।
आरोपियों से पूछताछ में सामने आया कि मुख्य सरगना रामवतार सिंह है। जो उड़ीसा और आन्ध्रा के तस्करों से सम्पर्क में है। जिनके द्वारा उत्तर प्रदेश में बड़ी खेप मंगवाई जाती थी। लेकिन आरोपी द्वारा 4-5 दिन पहले ही अपने ससुराल के पास में नदबई रीको एरिया में बंद पड़ी आटा मिल को जूट की बोरिया के वारदाने के लिए किराए पर लिया और एक बड़ी खेप गांजे की मंगवाकर उसमें भण्डारण कर लिया। आरोपी अपने कार से अपने साले भूपेन्द्र सिंह के साथ मिलकर जयपुर, सवाईमाधोपुर, दौसा, जयपुर ग्रामीण, अलवर, करौली, धौलपुर और भरतपुर और उत्तर प्रदेश में प्रतिकिलों में करीब पांच हजार रुपए मुनाफा कमाकर हाइवे और हाइवे से लगती रोड पर रास्ते पर ही डिलीवरी देता था।
आयुक्तालय जयपुर की सूचना पर नदबई में की गई कार्रवाई में जब्त मादक पदार्थ गांजा की कीमत 2 करोड़ रुपए है।

उड़ीसा से गांजे की आनी थी खेप-
पुलिस ने कुछ दिन पहले रामावतार और भूपिंदर सिंह को गांजा सप्लाई के मामले में दबोचा था उनसे पूछताछ के आधार पर ही इस बड़े खेल का खुलासा हुआ। बताया जा रहा है कि उड़ीसा से दो तीन दिन पहले ही गांजे की खेप यहां पहुंची थी और जल्द ही इसके पैकेट बनाकर सप्लाई शुरू की जानी थी।

Show More
Lalit Tiwari Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned