scriptGehlot government on alert on cases of corona infection | कोरोना संक्रमण के मामलों पर गहलोत सरकार अलर्ट पर, छूट के दायरे में हो सकती है सख्ती | Patrika News

कोरोना संक्रमण के मामलों पर गहलोत सरकार अलर्ट पर, छूट के दायरे में हो सकती है सख्ती

बैठक में मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग को सख्ती के निर्देश, डेंगू पर भी समीक्षा बैठक में विशेषज्ञों ने चिंता जताई

जयपुर

Updated: November 19, 2021 11:00:27 am

जयपुर। प्रदेश में दीपावली के बाद कोरोना के बढ़ते मामलों ने सरकार की टेंशन बढ़ा दी है। जयपुर सहित कई जिलों में कोरोना के नए मरीज सामने आए हैं। वहीं गुरुवार को भी प्रदेश में 18 नए मरीज सामने आए, जिससे अब प्रदेश में कुल एक्टिव मरीजों की संख्या 95 हो गई है। दीपावली से पहले यह संख्या 50 से कम थी।

third_wave_of_coronavirus_may_hit_delhi_govt_serious_6489561_835x547-m_6934844_835x547-m.jpg

इधर कोरोना के बढ़ते मामलों से चिंतित मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आज अपने निवास पर कोरोना समीक्षा की आपात बैठक ली। सुबह 9:30 बजे मुख्यमंत्री आवास पर हुई समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, मुख्य सचिव निरंजन आर्य और चिकित्सा विभाग के अधिकारियों के साथ-साथ चिकित्सा विशेषज्ञ बैठक में शामिल हुए। वहीं , चिकित्सा चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा गुजरात से बैठक में वर्चुअल जुड़े। समीक्षा बैठक के दौरान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जयपुर सहित जिन जिलों में कोरोना के बढ़ते मामले सामने आए हैं वहां पर विशेष एहतियात बरतने के निर्देश दिए।

छूट के दायरे में हो सकती है सख्ती
बताया जाता है कि राज्य सरकार की ओर से कोरोना के मामले कम होने के बाद शादी-समारोह, धार्मिक स्थलों, सार्वजनिक स्थानों और बाजारों में सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क अनिवार्य करने को लेकर चर्चा हुई है। कहा जा रहा है कि विशेषज्ञों ने भी गहलोत को इनमें थोड़ी सख्ती बरतने के सुझाव दिए हैं। चर्चा है कि मुख्यमंत्री गहलोत विशेषज्ञों की सलाह के बाद छूट के दायरे में थोड़ी सख्ती बरत सकते हैं।

सरकार इसलिए चिंतित
विश्वस्त सूत्रों की मानें तो सरकार की परेशानी की एक वजह यह भी है कि कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामले कहीं संभावित तीसरी लहर के संकेत तो नहीं है, हालांकि सरकार ने संभावित तीसरी लहर को लेकर पहले से ही तैयारियां की हुई हैं। मेडिकल इन्फ्रास्ट्रक्चर को प्रदेश में मजबूत किया गया है।

मास्क-सोशल डिस्टेंसिंग भूले
वहीं विशेषज्ञों की माने तो कोरोना की दूसरी लहर समाप्त होने और कोरोना के संक्रमण के मामलों में तेजी से गिरावट के बाद प्रदेश भर में लोगों की लापरवाही सामने आ रही है, जहां लोग बिना मास्क पहने और बिना सोशल डिस्टेंसिंग के नजर आ रहे हैं, कोरोना के बढ़ते मामलों की एक वजह यह भी है।

समीक्षा बैठक के बाद नई गाइड लाइन फैसला
बताया जा रहा है कि समीक्षा बैठक में विशेषज्ञों से चर्चा के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत कोरोना प्रोटोकॉल को लेकर एक नई गाइडलाइन जारी करने का फैसला ले सकते हैं। जिसमें सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क नहीं पहनने पर जुर्माने का प्रावधान रख सकते हैं। साथ ही भीड़-भाड़ वाली जगहों लेकर भी गाइडलाइन जारी हो सकती है।

डेंगू भी बरपा रहा कहर
इधर समीक्षा बैठक में कोरोना के साथ ही डेंगू पर भी चर्चा हुई है। प्रदेश में ऐसा पहली बार हुआ है कि अभी तक डेंगू के 14 हजार से ज्यादा मरीज मिल चुके हैं, जिसमें लगभग 40 लोगों की जान जा चुकी है। सरकार की चिंता इसलिए ज्यादा है कि पहले साल 2017 में 13 हजार मामले सामने आए थे जो कि हर साल के मुकाबले डेंगू के मरीजों में सबसे ज्यादा थे, लेकिन इस बार प्रदेश के सभी 33 जिले भी डेंगू की चपेट में आ गए हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Subhash Chandra Bose Jayanti 2022: इंडिया गेट पर लगेगी नेताजी की भव्य प्रतिमा, पीएम करेंगे होलोग्राम का अनावरणAssembly Election 2022: चुनाव आयोग का फैसला, रैली-रोड शो पर जारी रहेगी पाबंदीगोवा में बीजेपी को एक और झटका, पूर्व सीएम लक्ष्मीकांत पारसेकर ने भी दिया इस्तीफाUP चुनाव में PM Modi से क्यों नाराज़ हो रहे हैं बिहार मुख्यमंत्री नितीश कुमारPunjab Election 2022: भगवंत मान का सीएम चन्नी को चैलेंज, दम है तो धुरी सीट से लड़ें चुनाव20 आईपीएस का तबादला, नवज्योति गोगोई बने जोधपुर पुलिस कमिश्नरइस ऑटो चालक के हुनर के फैन हुए आनंद महिंद्रा, Tweet कर कहा 'ये तो मैनेजमेंट का प्रोफेसर है'खुशखबरी: अलवर में नया सफारी रूट शुरु हुआ, पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.