लॉकडाउन के बीच एक्शन मोड में गहलोत सरकार, नौकरशाही में बड़े बदलाव की तैयारी

आज शाम तक जारी हो सकती है तबादलों की बड़ी सूची, पलायन कर रहे मजदूरों के लिए रोडवेज का सही संचालन नहीं करना रविशंकर श्रीवास्तव को पड़ा भारी

By:

Published: 29 Mar 2020, 10:40 AM IST

जयपुर। कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते 15 अप्रेल तक लॉकडाउन के बीच राज्य की गहलोत सरकार एक्शन मोड पर है।शनिवार को 22 आरएएस और देर रात 6 आईएएस अधिकारियों के तबादलों के बाद नौकरशाही में एक और बड़े बदलाव की सुगबुगाहट है। बताया जा रहा है कि आज रात नौकरशाही में एक और बड़ा बदलाव देखने को मिल सकता है।

सूत्रों की माने तो आईएएस और आईपीएस अधिकारियों के तबादला सूची जारी हो सकती है। सत्ता के गलियारों में भी इसकी चर्चा जोरों पर हैं। चर्चा है कि दो दर्जन से ज्यादा आईएएस और आईपीएस के तबादलों को लेकर सरकार में मंथन हो चुका है। कार्मिक विभाग आज रात इसके आदेश जारी कर सकता है।


दो माह में दूसरा बड़ा फेरबदल
दो माह में ये दूसरा मौका है जब नौकरशाही में बडे स्तर पर तबादले हुए हैं। इससे पहले भी 9 फरवरी को गहलोत सरकार ने 30 आईएएस अफसरों के तबादले कर नौकरशाही को साफ संकेत दिया था, कि सरकार के मुखिया वे हैं। इससे पहले आईपीएस और आरएएस अधिकारियों अधिकारियों के भी बड़े स्तर पर तबादले हो चुके हैं।


लापरवाही पर गिरी गाज
शनिवार को देर रात 6 आईएएस अफसरों के हुए तबादलों में सबसे चौंकाने वाला नाम राजस्थान रोडवेज के अध्यक्ष रहे रविशंकर श्रीवास्तव का है। सूत्रों की माने तो सरकार ने रवि शंकर श्रीवास्तव की हठधर्मिता के चलते उन्हें पद से हटाया है।

कोरोना वायरस के चलते बड़ी संख्या में पलायन कर रहे श्रमिकों के लिए राजस्थान रोडवेज की बसों का सही संचालन नहीं करने के कारण उन पर गाज गिरी है। हाल ही में सरकारी बसों की खरीद के मामले में भी रविशंकर श्रीवास्तव ने परिवहन मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास के फैसले पर सवाल उठाया था।

Corona virus

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned