गहलोत ने केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री के बयान को बताया झूठा

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने वैक्सीन की कमी पर एक बार फिर केंद्र सरकार पर निशाना साधा। इस बार गहलोत ने केंद्री स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन पर निशाना साधते हुए वैक्सीन की उपलब्धता को लेकर उनके बयान पर उनको घेरा और बयान को असत्य बताया।

By: Ashish

Updated: 15 Apr 2021, 05:05 PM IST

जयपुर

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने वैक्सीन की कमी पर एक बार फिर केंद्र सरकार पर निशाना साधा। इस बार गहलोत ने केंद्री स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन पर निशाना साधते हुए वैक्सीन की उपलब्धता को लेकर उनके बयान पर उनको घेरा और बयान को असत्य बताया। गहलोत ने ट्वीट कर कहा कि राजस्थान सरकार ने केन्द्र सरकार की गाइडलाइंस का पालन करते हुए मेहनत कर प्रतिदिन वैक्सीनेशन की रफ्तार 5.81 लाख टीके प्रतिदिन तक पहुंचाई और देश में प्रथम स्थान पर पहुंचा।
गहलोत ने कहा कि उन्हें केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री से यह उम्मीद नहीं करता था कि वो 'राज्यों में पर्याप्त वैक्सीन उपलब्ध होने' जैसा असत्य बयान देंगे। स्वास्थ्य मंत्री द्वारा राज्यों पर मिस मैनेजमेंट का आरोप लगाना एक दम गलत है। शुरुआत में मेडिकल फर्टिनिटी तक भी वैक्सीन लगवाने को लेकर आशंकित थी लेकिन फिर सभी के अंदर कॉन्फिडेंस पैदा कर आमजन को वैक्सीनेशन के लिए प्रोत्साहित किया। लोग बड़ी संख्या में वैक्सीनेशन के लिए आगे आए हैं। गहलोत ने कहा कि केन्द्र सरकार ने 10 फीसदी वैक्सीन के खराब होने की छूट दी थी लेकिन राजस्थान में वैक्सीन के वेस्टेज का प्रतिशत सिर्फ 7 फीसदी ही है। राजस्थान में पूरे देश में सर्वाधिक वैक्सीनेशन हुआ है।


केन्द्र मानता वैक्सीन की कमी

गहलोत ने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा ये मानने में कोई बुराई नहीं थी कि देश में वैक्सीन की उपलब्धता कम है एवं राज्य सरकारों को उसी के अनुसार वैक्सीनेशन का कार्यक्रम बनाना चाहिए। लेकिन केन्द्र सरकार राजस्थान, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, ओडिशा, आंध्र प्रदेश, पंजाब, दिल्ली, झारखंड, उत्तराखंड और असम में वैक्सीन की नियमित आपूर्ति करने में विफल रही है, जिसके कारण इन राज्यों में कई जगह वैक्सीनेशन सेंटर बंद करने पड़े हैं।

जारी करनी चाहिए थी एडवाइजरी

गहलोत ने कहा कि उम्मीद करता हूं कि केन्द्रीय मंत्री कोरोना संक्रमण और वैक्सीनेशन पर गलतबयानी करने की बजाय आमजन के हित में सत्य सामने रखकर काम करेंगे। केन्द्र सरकार को इस बारे में गलतबयानी करने की जगह आधिकारिक तौर पर एडवायजरी जारी कर कहना चाहिए था कि वैक्सीन उपलब्ध होने में थोड़ा समय लगेगा, जिससे भविष्य में लोगों में कन्फ्यूजन की स्थिति ना बने और लोगों का वैक्सीन में विश्वास बना रहे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned