आरक्षण के मुद्दे पर बोले तिवाड़ी "गर्वनर के हस्ताक्षर भी हो गए, लेकिन बिल नहीं हो रहा लागू ", राजनीतिक दल जनता को दे रहे हैं धोखा

आरक्षण के मुद्दे पर बोले तिवाड़ी

rohit sharma | Publish: Sep, 09 2018 06:31:31 PM (IST) Jaipur, Rajasthan, India

www.patrika.com/rajasthan-news/

दौसा/जयपुर ।

भारत वाहिनी के मुखिया एवं सांगानेर विधायक घनश्याम तिवाड़ी ने कहा कि आरक्षण के मुद्दे पर राजनीतिक दल जनता को बरगला कर धोखे में डाल रहे हैं। रविवार को जयपुर से धौलपुर जाते समय दौसा व महुवा में पत्रकारों से बातचीत में तिवाड़ी ने कहा कि भारत वाहिनी का मुख्य एजेंडा सामाजिक समरसता, आर्थिक न्याय रहेगा।

 

विधि मंत्री थे, तब विधेयक पास हो गया था, लेकिन नहीं हो रहा बिल लागू

ब्राह्मण, राजपूत, वैश्य, कायस्थ और जो जातियां ओबीसी में शामिल रहने से वंचित रह गई हैं, उनको 14 प्रतिशत आरक्षण मिलना चाहिए। जब वे विधि मंत्री थे, तब विधेयक पास हो गया था। दोबारा सरकार आई तो उन्होंने मुद्दा उठाया था। बिल पास हुआ पड़ा है। गर्वनर के हस्ताक्षर भी हो गए, लेकिन बिल लागू नहीं हो रहा है।

 

विधानसभा चुनावों में बजेगी "बांसुरी"

तिवाड़ी ने कहा कि आगामी विधानसभा चुनावों में उनकी बांसुरी बजेगी। यानि उनकी भारत वाहिनी पार्टी का चुनाव चिह्न बांसुरी है और वे विधानसभा का चुनाव बांसुरी के चुनाव चिह्न पर लड़ेंगे। उन्होंने कहा कि सरकार ने काला कानून पास किया। सरकार अपने 5 वर्ष के काले कारनामों पर पर्दा डालने का काम कर रही है। अब लोकायुक्त का कार्यकाल 5 वर्ष से 8 वर्ष कर दिया है। यही नहीं जब तक नया लोकायुक्त नहीं आए, तब तक चाहे 20 वर्ष कार्यकाल बढ़ाया जा सकता है।

लोकायुक्त को मुख्यमंत्री की जांच करने का अधिकार नहीं है। माइन्स घोटाले की जांच की आंच किसी भी मुख्यमंत्री व मंत्री तक नहीं पहुंचेगी। इस दौरान भारत वाहिनी पार्टी के अलावा ब्राह्मण सहित अन्य समाजों के लोगों ने तिवाड़ी का स्वागत किया।

 

READ : Clerk Grade II Exam 2018 : राजस्थान में पकड़े गए कई फर्जी अभ्यर्थी, 10 हजार रुपए के लिए अभ्यर्थी की जगह परीक्षा देने बिहार से आया युवक

- स्वर्णनगरी जैसलमेर पहुंचा "पहियों पर महल", 1982 में पहली बार शुरू हुआ था "पैलेस ऑन व्हील्स" का सफर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned