Video: ग्लोबल एडल्ट टोबैको सर्वे- राजस्थान में तंबाकू सेवन में 7.6 फीसदी की गिरावट, तो सिगरेट पीने वालों में नहीं हुई कमी

Punit Kumar

Publish: Dec, 11 2017 10:09:27 (IST)

Jaipur, Rajasthan, India

रिपोर्ट के मुताबिक प्रदेश में 24.7 प्रतिशत लोग किसी न किसी रूप में तंबाकू उत्पादों का सेवन करते हैं, जिसमें 22.2 प्रतिशत पुरुष और 3.7 प्रतिशत महिलाएं

जयपुर। पिछले सात साल में राजस्थान में तम्बाकू उत्पादों का सेवन करने वालों में 7.6 प्रतिशत यानी 53 लाख 20 हजार लोगों की कमी आई है। यदि देशभर के सर्वे रिपोर्ट का आंकलन करें तो पता चलता है कि भारत में तंबाकू जनित उत्पादों का उपभोग करने वालों में 6 प्रतिशत की कमी आई है, जबकि राजस्थान में यह आंकड़ा 7.6 प्रतिशत है। वर्तमान में पान मसाला के साथ तंबाकू सेवन करने वाले लोगों में सर्वाधिक 4.6 प्रतिशत का इजाफा हुआ है। ग्लोबल एडल्ड टोबेको सर्वे 2016-17 (गेट्स) के दूसरे संस्करण की रिपोर्ट से यह खुलासा हुआ है। इस सर्वे की रिपोर्ट सोमवार को एक होटल में आयोजित कार्यक्रम के दौरान जारी की गई।

 

रिपोर्ट के मुताबिक प्रदेश में 24.7 प्रतिशत लोग किसी न किसी रूप में तंबाकू उत्पादों का सेवन करते हैं, जिसमें 22.2 प्रतिशत पुरुष और 3.7 प्रतिशत महिलाएं और 13.2 प्रतिशत व्यस्क शामिल हैं। तो वहीं वर्तमान में 22 प्रतिशत पुरुष, 5.8 प्रतिशत महिलाएं और 14.1 प्रतिशत व्यस्क धूम्ररहित तंबाकू सेवन कर रहे हैं। गेट्स सर्वे की मानें तो सिगरेट पीने वालों की संख्या में पिछले सात साल में कोई कमी नहीं आई है। प्रदेश में सिगरेट पीने की संख्या 2.8 प्रतिशत है जबकि बीडी पीने वालों का आंकड़ा 16 से घटकर 11.4 प्रतिशत हो गया है। इसी तरह पान के साथ तम्बाकू का सेवन करने वाले में 1.3 प्रतिशत से बढ़कर 4 फीसदी, खैनी का सेवन करने वालों में 7.3 से बढकर 8.2 प्रतिशत, मुंह में तंबाकू खाने वाले में 1.6 की बजाय 4.7 प्रतिशत और पान मसाला के साथ तंबाकू सेवन करने वालों में 4.6 प्रतिशत का इजाफा हुआ है।

 

गौरतलब है कि प्रदेश में अगस्त से सितंबर-2016 तक टाटा सामाजिक विज्ञान संस्थान, मुंबई व स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा गेट्स सर्वे कराया गया था। इस सर्वे में प्रदेशभर के 1499 पुरुषों व 1534 महिलाओं को शामिल किया गया। जबकि देशभर में 75750 पुरुषों एवं 40 हजार 750 महिलाओं को इसमें शामिल किया गया था। सिगरेट, बीड़ी पर बढ़ा खर्च राज्य में सिगरेट और बीड़ी के प्रतिमाह होने वाले खर्च में भी बढ़ोतरी हुई है। रिपोर्ट के मुताबिक राजस्थान में बीड़ी 19.7 प्रतिशत, गुटखा 14.6 प्रतिशत और खैनी का उपयोग 14.5 फीसदी पुरुष इसका सेवन करते है, वहीं 3.1 प्रतिशत गुटखा, 2.8 प्रतिशत महिलाएं बीड़ी का सेवन करती है।

 

ये रहे कार्यक्रम में मौजूद...

 

गेट्स सर्वे रिपोर्ट जारी करने के समारोह में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री कालीचरण सराफ, नेशनल हैल्थ मिशन, राजस्थान के एमडी नवीन जैन, मुख्य स्वास्थ्य सचिव वीना गुप्ता, एनटीपीसी राजस्थान के नोडल ऑफिसर डॉ. एसएन धौलपुरिया, एमओएचएफडब्ल्यू, भारत सरकार के आर्थिक सलाहकार अरुण कुमार झा, टाटा इंस्टीटयूट ऑफ सोशल साइंसेज की प्रतिनिधि हेमल सराफ, विश्व स्वास्थ्य संगठन की मुनीश गिल उपस्थित थी। मंच संचालन वॉयस ऑफ टोबेको विक्टिम, राजस्थान के स्टेट पैटर्न डॉ. पवन सिंघल ने किया।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned