जयपुर एयरपोर्ट पर सबसे बड़ी सोना तस्करी, बैटरियों से निकला 16 करोड़ का सोना, अफसर भी हैरान

लाइट की बैटरियों में छुपाया था। सोने का वजन करीब बीस किलो से ज्यादा है। इस तरह से दो उड़ानों से चौदह तस्करों को दबोचा गया है और इनमें पास से तीस किलो से ज्यादा सोना बरामद किया गया है।

By: JAYANT SHARMA

Updated: 04 Jul 2020, 06:20 PM IST

जयपुर। कोरोना के बाद जैसे-तैसे तो फ्लाईट्स का संचालन शुरु हुआ है और लोगों का आवागमन एक देश से दूसरे देश में होने लगा है लेकिन इस बीच जयपुर एयरपोर्ट पर सोने की तस्करी ने इतिहास रच दिया है। शुक्रवार देर रात जयपुर एयरपोर्ट पर कुछ घंटों में ही दो अलग-अलग उड़ानों से सोने की तस्करी हुई है। चौदह तस्करों को दबोचा गया है और उनके पास से तीस किलो से भी ज्यादा सोना अलग-अलग तरीके से बरामद किया गया है। सोने की अनुमानित कीमत पंद्रह करोड़ से भी ज्यादा बताई जा रही है। कस्टम विभाग के अफसर फिलहाल इस पूरी गैंग को बेनकाब करने में लगे हुए हैं। दोपहर तक इसकी पूरी जानकारी साझा की जानी है।

बिस्किट और तरल के रुप में लाया गया सोना
कस्टम विभाग के अफसरों ने बताया कि दुबई और अन्य अरब कंट्री से फ्लाईट्स का संचालन शुरु होने के साथ ही कोरोना काल में यह पहला मौका है जब किसी भी तरह की तस्करी पकडी गई है। दुबई से आए तीन यात्रियों के बारे में जानकारी मिली थी कि रात को आने वाली उडान से वे सोना ला रहे हैं। जांच की तो पता चला कि नौ किलो से ज्यादा सोने के बिस्कीट बरामद हुए हैं जो इमरजेंसी लाइट्स से में छुपाए गए थे। इन्हीं से जानकारी मिली की एक अन्य फ्लाइट से कुछ ही देर में और सोना आना वाला है।

जांच की तो दूसरी फ्लाइट से ग्यारह तस्कर निकले जिन्होनें ने भी तरल और बिस्कीट के रुप में सोने को इमरजेंसी लाइट की बैटरियों में छुपाया था। सोने का वजन करीब बीस किलो से ज्यादा है। इस तरह से दो उड़ानों से चौदह तस्करों को दबोचा गया है और इनमें पास से तीस किलो से ज्यादा सोना बरामद किया गया है। इसकी कीमत पंद्रह करोड़ से भी ज्यादा है। इनके अन्य साथियों के बारे में फिलहाल जानकारी जुटाई जा रही है। कस्टम विभाग के अफसरों का कहना है कि यह जयपुर एयरपोर्ट पर कुूछ ही घंटों में पकडा गया अब तक का सबसे ज्यादा सोना है। इससे पहले इससे बड़ी मात्रा में सोने की तस्करी नही पकडी गई है। सोना किसने मंगाया और सोना छुपाकर लाने के लिए इन तस्करों ने कितने रुपए लिए इस बारे में जांच की जा रही है। पुलिस की मदद भी ली जा रही है।

विदेश मे बसे भारतीयों को लाने के लिए शुरु की थी फ्लाइट्स
दरअसल कोरोना के चलते विदेश में फंसे भारतीय और अन्य लोगों को लाने के लिए ये फ्लाइट्स का संचालन शुरु किया गया था। इनको इवेक्युएशन फ्लाइट्स नाम दिया गया है। शुक्रवार को कुल 6 इवेक्युएशन फ्लाइट जयपुर पहुंची थी। इनमें से स्पाइसजेट की 2 फ्लाइट से कस्टम विभाग के अधिकारियों ने 14 सोना तस्करों को दबोचा। ये सभी यात्री इमरजेंसी लाइट की बैटरी में सोना भरकर लाए थे। सोना बिस्किट के रूप में था और प्रत्येक बिस्किट का वजन करीब 900 ग्राम था। इनके बारे में पहले ही सूचना मिली थी और फिर गंभीरता से सामान की जांच की गई तो खुलासा हो गया।

दो फ्लाइट्स से इस तरह से दबोचे गए तस्कर
दो फ्लाइट से कुल 14 तस्कर 31.95 किलो सोना जयपुर लेकर आए थे। शुक्रवार रात रस अल खैमाह से स्पाइसजेट की फ्लाइट SG-9055 जयपुर पहुंची थी। इस फ्लाइट से 3 सोना तस्करों से 9.30 किलो सोना पकड़ा गया था। इसके कुछ देर बाद ही रियाद से स्पाइस जेट की फ्लाइट SG-9647 जयपुर पहुंची। इस फ्लाइट से 11 यात्रियों से 22.652 किलो सोना पकड़ा गया। सोने की कीमत पंद्रह करोड़ नब्बे लाख रुपए बताई जा रही है।

JAYANT SHARMA Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned