गूगल और माइक्रोसॉफ्ट में जयपुर का परचम, इन स्टूडेंट्स का ऐसे हुआ सलेक्शन

kamlesh sharma

Publish: Sep, 17 2017 02:56:13 (IST)

Jaipur, Rajasthan, India
गूगल और माइक्रोसॉफ्ट में जयपुर का परचम, इन स्टूडेंट्स का ऐसे हुआ सलेक्शन

एंड्रॉयड एप्स को लेकर यूथ में काफी एक्साइटमेंट दिखाई देता है। यही वजह है कि कम उम्र में ही कई युवा एप डवलपर बनकर सामने आ रहे हैं।

जयपुर। एंड्रॉयड एप्स को लेकर यूथ में काफी एक्साइटमेंट दिखाई देता है। यही वजह है कि कम उम्र में ही कई युवा एप डवलपर बनकर सामने आ रहे हैं। वल्र्ड की टॉप टेक्नोलॉजी कंपनियां अब एेसे युवाओं को सही गाइडेंस देना चाहती हैं।

यही वजह है कि ये कंपनीज अब टियर टु जैसे शहरों से टैलेंट खोज रही हैं। जयपुर का टैलेंट इस मामले में लगातार सफलता हासिल कर रहा है। गूगल और माइक्रोसॉफ्ट जैसी कंपनियों ने शहर के स्टूडेंट्स को बड़ी जिम्मेदारी दी है। इसमें शहर के स्टूडेंट गौरव सोनी को गूगल ने फैसिलिटेटर के तौर पर चयनित किया है। वहीं 19 स्टूडेंट्स को माइक्रोसॉफ्ट ने स्टूडेंट्स पार्टनर के तौर पर सलेक्ट किया है।

एमसीए स्टूडेंट गौरव ने बताया कि ज्यादा से ज्यादा एंड्रॉयड डवलपर जनरेट करने और एंड्रॉयड के बारे में अवेयरनेस बढ़ाने के उद्देश्य से गूगल की ओर से कई एक्टिविटीज की जा रही हैं। फैसिलिटेटर के तौर पर मैं शहर के स्टूडेंट्स के लिए वर्कशॉप, सेमिनार और इवेंट्स के जरिए एंड्रॉयड एप डवलपमेंट और डेटा स्ट्रक्चर जैसे इश्यूज पर काम करूंगा। इन इवेंट्स में हिस्सा लेने वाले स्टूडेंट्स को कंपनी की ओर से सर्टिफिकेशन भी दिया जाएगा। गौरव जेईसीआरसी यूनिवर्सिटी का स्टूडेंट है।

ऐसे हुआ सलेक्शन
गौरव ने बताया कि पिछले साल 'गूगल अप्लाइड सीएस विद् एंड्रॉयड' ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के जरिए प्रो. शेखर के निर्देशन में उन्होंने आवेदन किया था। इसमें कम्प्यूटर साइंस की नॉलेज को एंड्रॉयड में इस्तेमाल करने की एबिलिटी जज की गई। इसके बाद टेक्निकल वीडियो भेजा गया। इसमें सलेक्ट होने के बाद ऑनलाइन इंट्रोडक्शन सेशन आयोजित हुआ। इसके बाद गूगल ऑफिस बुलाया गया। जहां बूट कैंप और वर्कशॉप के जरिए एक्टिविटीज की ट्रेनिंग दी गई।

यहां भी छाए...
इधर, माइक्रोसॉफ्ट में चयनित 19 स्टूडेंट्स वेबिनार के जरिए माइक्रोसॉफ्ट टेक्नोलॉजी को दूसरे स्टूडेंट्स तक लेकर जाएंगे। जेयू में सीएस थर्ड ईयर स्टूडेंट्स और माइक्रोसॉफ्ट रीजनल हैड जयपुर मनस्वी श्रीवास्तव ने बताया कि पहली बार इतने स्टूडेंट्स का एक साथ सलेक्शन हु़आ है। स्टूडेंट्स को क्वेश्चनेयर, स्काइप इंटरव्यू, प्रजेंटेशन और फाइनल राउंड के बाद सलेक्ट किया गया। ये स्टूडेंट्स एक साल तक माइक्रोसॉफ्ट के साथ काम करेंगे।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned