गूगल यूजर्स को मिलेगी अब ज्यादा प्राइवेसी

Google ने अपने यूजर्स की डाटा सिक्योरिटी को ध्यान में रखते हुए दिया नया अपडेट

एक लंबे समय के इंतजार के बाद गूगल ने आखिरकार अपने मैप्स एप के लिए Incognito मोड जारी कर दिया है। गूगल ने इससे पहले यूट्यूब और वॉइस असिस्टेंट के लिएइंकॉग्निटो मोड यानी प्राइवेट मोड जारी किए हैं। ऐसे में यूजर्स को पहले के मुकाबले अधिक प्राइवेसी मिलेगी।

Google ने अपने यूजर्स की डाटा सिक्योरिटी को ध्यान में रखते हुए नया अपडेट जारी किया है। जिसके Google Maps, YouTube और Assistant जैसे फीचर का उपयोग पहले की तुलना अधिक सिक्योर और आसान हो जाएगा। कंपनी ने Google Maps के लिए Incognito Mode जारी किया है जैसा कि Google Search में देखने को मिलता है। ये फोन Google Maps के उपयोग को प्राइवेट कर देगा यानि आप इसमें जो लोकेशन सर्च कर रहे हैं वह हिस्ट्री में सेव नहीं होगी।

Google Maps के लिए कपंनी ने Incognito Mode रोलआउट किया है जो कि सिक्योरिटी के लिहाज से यूजर्स के लिए काफी उपयोगी साबित हो सकता है। Incognito Mode की मदद से यूजर्स Google Maps में अपनी एक्टिविटी को स्टॉप कर सकते हैं। सबसे खास बात ये है कि Incognito Mode का उपयोग करके अगर आप लोकेशन सर्च करते हैं तो वह आपके हिस्ट्री डाटा में सेव नहीं होगी और न ही उसे कोई और देख सकेगा।

इसके अलावा Google ने YouTube में भी एक नया फीचर auto-delete एड किया है। इस फीचर के मदद से यूजर्स YouTube में सर्च किए डाटा को डिलीट करने के लिए टाइम सेट कर सकते है। जिसके बाद उस टाइम पर ऑटोमैटिक आपका डाटा डिलीट हो जाएगा। इस फीचर का उपयोग आप वेब और ऐप दोनों में कर सकते हैं।

वहीं कंपनी ने घोषणा की है कि जल्द ही यूजर्स को Assistant फीचर में भी auto-delete का ऑप्शन उपलब्ध होगा। जहां यूजर्स केवल वॉयस मदद से डाटा डिलीट कर सकेंगे। इस फीचर में आपको केवल "Hey Google, delete the last thing I said to you" कमांड का उपयोग करना होगा। जिसके बाद आपका डाटा डिलीट हो जाएगा। इस फीचर को उपयोग करने के लिए आपको अकाउंट सेटिंग में जाना होगा। अभी कंपनी ने इन सभी नए अपडेट की घोषणा की है लेकिन जल्द ही इन्हें एंड्राइड और आईओएस में उपलब्ध कराया जाएगा।

Incognito मोड के फायदे
इन्कॉग्निटो मोड की मदद से यूजर्स गूगल मैप्स पर अपनी एक्टिविटी को स्टॉप कर सकता है...वो मैप्स पर किन जगहों को सर्च कर रहा है, ये डेटा भी वहां सेव नहीं होगा।

गूगल ने पासवर्ड चेकअप नाम का फीचर भी शुरू किया है। इस फीचर की मदद से यूजर को उसके अकाउंट में हुई छेड़छाड़ के बारे में पता चल जाएगा। साथ ही, ये यूजर को पासवर्ड कमजोर के बारे में भी बताएगा।

कंपनी ने बताया कि यूट्यूब पर ऑटो डिलीट ऑप्शन भी जोड़ा गया है। इस फीचर के मदद से यूजर्स डेटा डिलीट होने की अवधि सेट कर पाएंगे। सेट की हुई अवधि के बाद डेटा ऑटोमैटिक डिलीट हो जाएगा।

वहीं गूगल जल्द ही वॉयस असिस्टेंट में भी डिलीट करने का फीचर पेश करने वाला है जिसके बाद आप Hey Google, delete the last thing I said to you बोलकर डाटा डिलीट कर पाएंगे

Khusendra Tiwari
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned