450 नेत्र सहायकों की नियुक्ति दे सरकार


- अखिल राजस्थान राज्य कर्मचारी संयुक्त महासंघ(एकीकृत) ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पत्र लिखकर की मांग

By: Abrar Ahmad

Updated: 24 May 2020, 05:45 PM IST

जयपुर. अखिल राजस्थान राज्य कर्मचारी संयुक्त महासंघ(एकीकृत) ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पत्र लिखकर बेरोजगार नेत्र सहायकों को नियुक्ति देने की मांग की है।
महासंघ के वरिष्ठ उपाध्यक्ष राजेन्द्र कुमार शर्मा ने बताया कि प्रदेश में अंधेपन की रोकथाम के लिए मान्यता प्राप्त संस्थानों से प्रशिक्षित लगभग 450 नेत्र सहायक पिछले काफी समय से नियुक्ति की मांग कर रहे हैं, लेकिन सरकार द्वारा नियुक्ति की ओर ध्यान नहीं दिया जा रहा है।
उल्लेखनीय है कि राज्य सरकार ने राष्ट्रीय अंधता निवारण कार्यक्रम के अंतर्गत प्रदेश में वर्ष 1985 में नेत्र सहायक का दो वर्षीय डिप्लोमा कोर्स प्रारंभ किया था। जिसका उद्देश्य राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों में नेत्र सेवा उपलब्ध कराना तथा जिला स्तर पर नेत्र सेवाओं को ओर अधिक सुद़ृढ़ करना था। इसके लिए वर्ष 2020 तक अंधेपन की दर को 1.3 प्रतिशत से घटकर 0.3 प्रतिशत लाने का लक्ष्य भी निर्धारित किया गया था। निर्धारित लक्ष्य की प्राप्ति आज तक नहीं हुई है। अंधेपन की रोकथाम के लिए प्रदेश की सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, जिला अस्पतालों में नेत्र सहायक के पद सृजित कर वहां नेत्र सहायकों को पदस्थापित किया जाना था, लेकिन आज तक मात्र 300 नेत्र सहायकों को ही नियुक्ति दी गई है। उनमें से भी कई सेवानिवृत्त हो गए है और कुछ राज्य सेवा छोड़कर अन्यत्र चले गए।

Abrar Ahmad Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned