कॉलेज कार्यक्रमों में अब नहीं होगा फर्जीवाड़ा

सालभर में कॉलेज में कौनसे हुए कार्यक्रम देनी होगी जानकारी, कहां से मिला बजट यह भी बताना होगा, प्रतिभागियों की भी देनी होगी जानकारी, बताना होगा सेमीनार का उद्देश्य

By: MOHIT SHARMA

Published: 27 Nov 2019, 09:31 AM IST

जयपुर। सरकारी कॉलेजों में आए दिन कार्यक्रम होते हैं, लेकिन उनका प्रचार—प्रसार नहीं होने से न तो उनमें विद्यार्थी पहुंच पाते हैं, न ही उनकी अन्य लोगों को जानकारी मिलती है। कई जगह तो कार्यक्रम नहीं होने से राशि भी लैप्स हो जाती है, वहीं कई जगह फर्जीवाड़े की भी आशंका जताई गई है। लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। अब यदि कॉलेज में कोई भी कार्यक्रम होगा तो उसका पूरा विवरण कॉलेज शिक्षा विभाग को बताना हेगा।
प्रदेशभर के सरकारी कॉलेजों में इस सत्र में कौन—कौनसे कार्यक्रम हुए, इसकी जानकारी अब कॉलेज शिक्षा विभाग ने मांगी है। प्रदेश के कई सरकारी कॉलेज ऐसे हैं, जहां सालभर में एक भी कार्यक्रम आयोजित नहीं किया गया। जबकि इन कॉलेजों ने कॉलेज शिक्षा विभाग से बजट ले लिया और उसे खर्च भी कर दिया। अब विभाग इसी फर्जीवाड़े पर लगाम लगाने की तैयारी कर रहा है। विभाग ने सालभर का पूरा ब्यौरा कॉलेजों से मांगा है।
कॉलेजों को अब कार्यक्रम के फोटोग्राफ भी सहेज कर रखने होंगे। जरूरत होने पर कॉलेज आयुक्तालय इन्हें मांग सकता है। कार्यक्रम में कौनसे अतिथि आए, कितने अन्य लोग आए, कितने विद्यार्थियों ने कार्यक्रम में भाग लिया, उन्हें क्या पारितोषिक दिया गया, अब इन सबकी जानकारी कॉलेज प्राचार्य को रखनी होगी। विभाग कभी भी उनसे इसकी जानकारी मांग सकता है।

ये देनी है जानकारी
कॉलेजों में वर्ष 2019—20 में हुई कॉन्फ्रेंस, कार्यशाला, सेमीनार आदि की जानकारी विभाग को देनी है। अब कॉलेज आयुक्तालय इनकी मॉनिटरिंग करेगा। आयुक्तालय को भेजी गई रिपोर्ट में कॉलेजों को बताना होगा कि उनके यहां कब कौनसी तारीख को क्या कार्यक्रम आयोजित किया गया। इसको कराने का उद्देश्य क्या था, किन प्रतिभागियों ने इसमें भाग लिया। इस कार्यक्रम के लिए फण्ड की व्यवस्था कहां से की गई। कार्यक्रम के लिए यदि कोई प्रायोजक मिला था तो उसका पूरा विवरण देना होगा, बताना होगा कि प्रायोजक से कितनी राशि कार्यक्रम के लिए मिली। कार्यक्रम से लाभान्वित विद्यार्थियों और अन्य व्यक्तियों के बारे में भी पूरी जानकारी देनी होगी। साथ ही कार्यक्रम में खर्च हुई राशि की ब्लैंस शीट भी देनी होगी।

MOHIT SHARMA
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned