इन छात्राओं को मिलेंगी नि:शुल्क किताबें

MOHIT SHARMA

Updated: 12 Oct 2019, 12:34:31 PM (IST)

Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

जयपुर। प्रदेशभर के सरकारी कॉलेजों में पढ़ने वाली अनुसचित जाति की छात्राओं को अब पढ़ाई के लिए परेशान नहीं होना पड़ेगा। इन छात्राओं को नि:शुल्क किताबें कॉलेज की ओर से उपलब्ध कराई जाएंगी। इसमें शर्त यह होगी कि इन छात्राओं के माता—पिता आयकरदाता नहीं हों। कॉलेज शिक्षा विभाग के वित्तीय सलाहकार राजकुमार मीना ने सभी 252 कॉलेजों के प्राचार्यों को किताब खरीदने के निर्देश दिए हैं। ये किताबें पुस्तक बैंक योजना के तहत ली जाएंगी। उन्होंने बताया कि इस योजना में कॉलेज स्तर पर वाईस प्रिंसिपल, वरिष्ठत संकाय संदस्य के संयोजन में एक समिति गठित की जाएगी। यह समिति ही किताबें खरीदेगी।

वापस देनी होंगी किताबें
पुस्तक बैंक योजना में छात्राओं को उपलब्ध कराई गई पुस्तकें विश्वविद्यालय की परीक्षा समाप्त होने के बाद वापस पुस्तकालय में जमा करानी होंगी। इसके लिए हर कॉलेज को 15 हजार रुपए की राशि आवंटित की गई है। इसी राशि के आधार पर किताबें खरीदी जाएंगी। अतिरिक्त राशि की जरुरत होने पर कॉलेज छात्रमद से किताब खरीद कर सकेंगे।

भामाशाहों का भी सहयोग
किताब खरीद में कॉलेज प्रचार्य भामाशाहों का भी सहयोग ले सकेंगे। इसके अलावा विद्यार्थी और शिक्षक भी पुस्तक बैंक योजना में सहयोग कर सकेंगे। यदि कोई विद्यार्थी अपनी पुरानी किताब कॉलेज के पुस्तकालय में जमा कराना चाहता है तो वह भी उसमें जमा करा सकता है। इसके लिए नियम बनाए गए हैं कि कौनसी किताब कितने समय तक काम आ सकती है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned