नए बजट से पहले सरकार के सामने वित्तीय संकट

ए बजट से पहले सरकार के सामने वित्तीय संकट खड़ा हो गया है।

By: Nidhi Mishra Nidhi Mishra

Published: 01 Jul 2019, 04:38 PM IST

जयपुर। प्रदेश में महज छह महीने में दो बार हजारों करोड़ रुपए की कर्जमाफी, बढ़ते वित्तीय खर्चों के चलते सरकार की वित्तीय हालत ( Rajasthan Budget 2019 Rajasthan ) खस्ता हो गई है। वित्त विभाग के अफसरों के सामने संकट है कि घोर वित्तीय संकट ( Financial crisis ) के बीच बजट कैसे बनाएं। नए बजट के लिए वित्त जुटाने के लिए वित्त विभाग ने सभी विभागों में 15 से 20 साल से बंद खातों में रखी रकम के बारे में जानकारी मांगी है और कहा गया है अगर रकम बची है, तो उसे तत्काल राजकोष में जमा कराया जाए। वित्त विभाग ( Rajasthan Finance Department ) के अफसर खुद दबी जुबां में स्वीकार कर रहे हैं कि नए बजट को बनाने में पसीना आ रहा है। क्योंकि सरकार घोर वित्तीय संकट से गुजर रही है। बीएफसी की बैठकों में बजट घोषणाओं पर जम कर कैंची चली है। ऐसे में एक-एक बजट प्रस्ताव को बजट घोषणा बनाने से पहले सौ बार सोचा जा रहा है। नया बजट लाने से पहले वित्तीय संकट से जूझ रही सरकार को विभागों में वर्षों पहले बंद हो चुके बैंक खाते कुछ उम्मीद की किरण लेकर आए हैं।

 

योजनाओं के लिए फंड का जुगाड़


वित्त विभाग ने अब केन्द्र और राज्य की योजनाओं के लिए 15 से 20 साल पहले खोले खातों में योजनाओं के बंद होने के बाद बची रकम को खंगालना शुरू किया है। वित्त विभाग का मानना है कि बंद खातों से सरकार को अच्छी खासी रकम मिल सकती है और सरकार के वित्तीय संकट में कुछ कमी आ सकती है और कुछ योजनाओं के लिए बजट का जुगाड़ हो सकता है।



Rajasthan Budget 2019

मितव्ययता परिपत्र होगा जारी


वित्त विभाग के आदेश के बाद विभागों ने भी केन्द्र और राज्य की योजनाओं के लिए सालों पहले खोले गए खातों को खंगालना शुरू कर दिया है। वित्त विभाग के अफसरों के अनुसार महज छह महीने के भीतर दो बार हुई किसान कर्जमाफी ने सरकार की कमर तोड़ दी है। वहीं सरकार के दिन प्रतिदिन के खर्चें भी बढ़ते जा रहे हैं। बताया जा रहा है कि सरकार बढ़ते खर्चों को कम करने के लिए मितव्ययता परिपत्र भी सभी विभागों को जारी करने की तैयारी कर रही है।

Nidhi Mishra Nidhi Mishra
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned