घनी आबादी क्षेत्रो में क्वॉरेंटाइन सेंटर बनाने की गलती न करे सरकार-लाहोटी

सांगानेर विधायक अशोक लाहोटी ने सघन आबादी क्षेत्र में क्वारेंटाइन सेंटर बनाने का विरोध किया है। उन्होंने कहा है कि जयपुर में कोरोना संक्रमितों और संदिग्धों का आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है, जिसके चलते उनके उपचार के लिए सरकार लगातार अलग—अलग इलाकों में सरकर की ओर से क्वॉरेंटाइन सेंटर और शेल्टर होम बनाए जा रहे हैं। लेकिन घनी आबादी वाली कॉलोनियों में सेंटर बनाना सरकार का अदूरदर्शी निर्णय है।

By: Umesh Sharma

Published: 23 Apr 2020, 05:55 PM IST

जयपुर।

सांगानेर विधायक अशोक लाहोटी ने सघन आबादी क्षेत्र में क्वारेंटाइन सेंटर बनाने का विरोध किया है। उन्होंने कहा है कि जयपुर में कोरोना संक्रमितों और संदिग्धों का आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है, जिसके चलते उनके उपचार के लिए सरकार लगातार अलग—अलग इलाकों में सरकर की ओर से क्वॉरेंटाइन सेंटर और शेल्टर होम बनाए जा रहे हैं। लेकिन घनी आबादी वाली कॉलोनियों में सेंटर बनाना सरकार का अदूरदर्शी निर्णय है।

लाहोटी ने आरोप लगाया की घनी आबादी वाले विधानसभा क्षेत्र में कोरोना संदिग्ध लोगों के लिए क्वॉरेंटाइन सेंटर बनने पर क्षेत्र के नागरिकों की सुरक्षा और स्वास्थ्य खतरे में पड़ सकता है। सरकार ने आनन-फानन में सांगानेर विधानसभा क्षेत्र के घनी आबादी क्षेत्र के दुर्गापुरा व त्रिवेणी नगर स्थित दर्जनों कॉलोनियों के मध्य दुर्गापुरा कृषि अनुसंधान केंद्र व संस्कृत विश्वविद्यालय में क्वॉरेंटाइन सेंटर बनाने जैसा अदूरदर्शी पूर्ण निर्णय लिया है, जिससे इस क्षेत्र के आसपास में रहने वाले नागरिको में दहशत का माहौल है। स्थानीय विकास समितियों/सामाजिक संस्थाओं व स्थानीय नागरिकों ने व्यक्तिगत मुलाकात करके क्वॉरेंटाइन सेंटर नहीं बनाने के मांग पत्र की प्रति सौंपी और मदद की मांग की है। लाहोटी ने सरकार से निवेदन किया है कि वो क्वारेंटाइन सेंटर्स को घनी आबादी क्षेत्र के बाहर शिफ्ट करे।

बड़े अस्पतालों को कोविड सेंटर बनाना गलत

विधायक कालीचरण सराफ ने शहर के सभी बड़े और मुख्य सुविधाओं से युक्त अस्पतालों को कोविड अस्पताल बनाने के निर्णय को गलत बताया है। उन्होंने कहा कि अब सामान्य मरीज इलाज कराने कहां जाएंगे सरकार यह भी बता दे। कोविड- 19 से बचाव के लिए सरकार द्वारा लिए जा रहे अविवेकपूर्ण फैसलों से जनता को कितनी परेशानी हो रही है, इस बात का उसे शायद एहसास भी नहीं है अथवा सरकार को आमजन की परेशानियों से कोई सरोकार ही नहीं है। जयपुर दक्षिण के सांगानेर, बगरू, मालवीय नगर व आदर्श नगर विधानसभा क्षेत्रों से सामान्य मरीज इलाज के लिए या तो एसएमएस अस्पताल जाते थे या फिर जयपुरिया में आते थे। दोनों ही अस्पतालों को कोविड सेंटर बनाने से सामान्य मरीजों के समक्ष इलाज का संकट खड़ा हो गया है।

Umesh Sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned