प्रतिबंध के लिए सिंगल यूज प्लास्टिक उत्पादों की सूची जारी कर सकती है सरकार

Rakhi Hajela

Updated: 04 Dec 2019, 06:07:08 PM (IST)

Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India


सिंगल यूज प्लास्टिक के उपयोग पर बैन लगाने के उद्देश्य से केंद्र सरकार 8 उत्पादों को सूचीबद्ध कर इन्हे बंद कर सकती है। इसमें प्लास्टिक कटलरी, प्लास्टिक बैग और कुछ स्टायरोफोम आइटम भी शामिल हैं। इससे पहले तक यह कयास लगाए जा रहे थे कि 2 अक्टूबर से सिंगल यूज प्लास्टिक को बैन किया जाएगा, लेकिन बाद में सरकार ने स्पष्ट किया था कि फिलहाल ऐसी कोई योजना नहीं है। इंडस्ट्री के प्रतिनिधियों ने पर्यावरण मंत्रालय को पत्र लिखकर सिंगल यूज प्लास्टिक की परिभाषा तय करने और इन्हें सिलसिलेवार तरीके से बैन करने को लेकर दिशा निर्देश देने को कहा था।
आपको बता दें कि मंत्रालय ने राज्यों को पत्र लिखकर प्लास्टिक बैग, स्टायरोफोम कटलरी का उत्पादन बंद करने को कहा था। मंत्रालय ने राज्यों से कहा था कि कचरे को सोर्स पर ही अलग.अलग करें, उन्हें कलेक्ट करें और ट्रांसपोर्टेशन के लिए लोकल बॉडीज को सपोर्ट करें। साथ ही प्लास्टिक कचरा उत्पन्न करने वाली एंटिटीज को कहा जाए कि वे उसे वापस लें।
महाराष्ट्र सरकार ने सिंगल यूज प्लास्टिक पर लगाया बैन
महाराष्ट्र सरकार ने सिंगल यूज प्लास्टिक के इस्तेमाल पर रोक लगाने की दिशा में कदम उठाते हुए एक नोटिफिकेशन जारी किया था। इसके अनुसार प्लास्टिक या थर्माकोल से बने कप, प्लास्टिक शॉपिंग बेग, पेट प्लास्टिक बॉटल और स्ट्रॉ के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगाया गया है। इसके अलावा पानी के पाउच को भी बैन किया गया है। यह नोटिफिकेशन महाराष्ट्र के पर्यावरण विभाग, महाराष्ट्र प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड और ठाणे कॉरपोरेशन की ओर से जारी किया गया है।
सिंगल यूज प्लास्टिक क्या होता है ?
प्लास्टिक की बनी ऐसी चीजें, जिनका हम सिर्फ एक ही बार इस्तेमाल कर सकते हैं या इस्तेमाल कर फेंक देते हैं और जिससे पर्यावरण को नुकसान पहुंचता है, वह सिंगल यूज प्लास्टिक कहलाता है। इसका इस्तेमाल चिप्स पैकेट की पैकेजिंग, बोतल, स्ट्रॉ, थर्मोकॉल प्लेट और गिलास बनाने में किया जाता है।
ग्राफिक्स
प्लास्टिक से जुड़े कुछ तथ्य
दुनिया भर में हर मिनट लोग करीब १० लाख प्लास्टिक की बोतल खरीदते हैं
जितनी प्लास्टिक इस्तेमाल होती है, उनका ९१ फीसदी करीब रिसाइकल नहीं होता
हर साल दुनिया भर में करीब ४० हजार करोड़ प्लास्टिक की थैलियों का इस्तेमाल होता है
हर दिन दुनिया भर में करीब ५ लाख स्ट्रॉ का इस्तेमाल होता है।
हर दिन करीब ५०० अरब प्लास्टिक के प्याले का इस्तेमाल होता है
२०२२ तक प्लास्टिक की खपत हो जाएगी दोगुनी
९४.६ लाख टन हर साल देश में प्लास्टिक कचरा
३८ लाख टन कचरा सिंगल यूज प्लास्टिक
१७० करोड़ टन प्लास्टिक की सालाना खपत
२६ हजार टन प्लास्टिक हर दिन निकल रहा

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned