नट गई राधा गौरी मैं होरी ना खेलूं

Avinash Bakolia

Publish: Mar, 17 2019 07:27:19 PM (IST)

Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

जयपुर. नट गई राधा गौरी मैं होरी ना खेलूं, सारे ब्रज में धूम मचाया जैसे भजनों की गूंज राधागोविंद देव जी मंदिर सहित छोटीकाशी के मंदिरों में खूब गूंजी। मौका था फाल्गुन शुक्ल पक्ष एकादशी के तहत रविवार को आयोजित फागोत्सव का। गोविंद देव जी मंदिर में पुष्प फागोत्सव में कोलकाता के श्रीकांत शर्मा ने विभिन्न भजनों की प्रस्तुतियां दी। वहीं दोपहर तीन बजे से पांच बजे तक विशेष झांकी के दर्शन हुए। श्याम होली खेलन आया जैसे भजनों की सरिता से गोविंद को रिझाया। इस मौके पर शेखावाटी होली आधारित नृत्य भी हुए। सरस निकुंज दरीबा पान में फागुन के रंग सद्गुरू के संग पुष्प फाग महोत्सव, आमलका एकादशी महोत्सव महंत अलबेली माधुरी शरण के सान्निध्य में मनाया गया। कार्यक्रम के तहत राधा सरस बिहारी जु सरकार की पुष्प श्रृंगार झांकी, रचना की झांकी का दर्शन कराया गया। सुगंधित पुष्पों की वर्षा, होरी के पदों का ब्रज के रसिया का विशेष सामूहिक गायन हुआ। किशोरी जु को फगुवा धारण कराया गया। कैसी ये होली आयी ब्रज में रंग बरसे गली रगीली में, ढप बाजत दौउ ओरी के इत नंद गांव उत बरसाने गोरी के, मदमातो महीनो होली को सहित अन्य पदों का गायन हुआ। चौहान परिवार मित्र मंडल की ओर से गांधी नगर मोड स्थित चौहान कुटीर में फागोत्सव, भजन संध्या कार्यक्रम हुआ। मुख्य अतिथि भाजपा कानून एवं विधिक विषय विभाग के प्रदेश सहप्रमुख (एडवोकेट) विकास सोमानी रहे। संरक्षक छोटेलाल चौहान ने बताया कि कलाकारों ने फाग, होली के गीतों सहित अन्य भजन, भक्ति गीतों की प्रस्तुतियां दी। गलता रोड स्थित गीता गायत्री मंदिर में महंत राजकुमार चतुर्वेदी के सान्निध्य में फाल्गुन माह की रंगभरी एकादशी की पूर्व संध्या पर विशेष झांकी सजाई गई।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned