वसुंधरा सरकार स्कूली बच्चों को पिलाएगी 'शुगर फ्री' दूध...वजह जानकर रह जाएंगे हैरान

वसुंधरा सरकार स्कूली बच्चों को पिलाएगी 'शुगर फ्री' दूध...वजह जानकर रह जाएंगे हैरान

SAVITA VYAS | Publish: Jun, 14 2018 01:54:17 PM (IST) Jaipur, Rajasthan, India

राज्य सरकार 'अन्नपूर्णा दूध योजनाÓ के तहत सरकारी स्कूलों में बच्चों को दूध तो पिलाना चाहती है, लेकिन दूध से चीनी गायब रहेगी।

 

जयपुर। राज्य सरकार 'अन्नपूर्णा दूध योजनाÓ के तहत सरकारी स्कूलों में बच्चों को दूध तो पिलाना चाहती है, लेकिन दूध से चीनी गायब रहेगी। योजना का उद्देश्य बच्चों के शरीर और मस्तिष्क का विकास करना है। बच्चों को मीठा दूध बहुत पंसद होता है, लेकिन स्कूलों में बच्चों को पिलाए जाने वाले दूध में चीनी नहीं होगी।
गौरतबल है कि सरकारी स्कूलों में नए सत्र से कक्षा 1 से 8 तक के बच्चों को मिड डे मील के तहत गर्म दूध मुहैया कराया जाएगा। स्कूलों में 2 जुलाई से शुरू होने वाली अन्नपूर्णा दूध योजना के तहत गर्म दूध की व्यवस्था की गई है। सरकार ने दूध, बर्तन व अन्य सामान खरीदने के लिए बजट का प्रावधान तो कर दिया, लेकिन चीनी का प्रावधान नहीं होने से बच्चों को फीका दूध ही पीना पड़ेगा। सरकार ने योजना के तहत चीनी के लिए कोई बजट निर्धारित नहीं किया है। मुख्यमंत्री की वित्तीय वर्ष 2018-19 के बजट अभिभाषण में मिड डे मील योजनांतर्गत समस्त राजकीय प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालयों को सप्ताह में तीन दिन दूध पिलाने की अन्नपूर्णा दूध योजना प्रारंभ की जाएगी।

चौमूं उपखण्ड अधिकारी प्रियवृत सिंह चारण ने बताया कि मिलावटीखोर दूध और मावे में मिलावट करते हैं, जिससे लोगों और बच्चो के स्वास्थ्य पर प्रभाव पड़ता है। स्कूलों में वितरण होने वाले बच्चों के दूध पर चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के खाद्य सुरक्षा एवं सहकारी डेयरियों के अधिकारियों द्वारा दूध के गुणवता की जानकारी के लिए सुनिश्चित किया गया है। इसके अलावा बच्चो को दूध देने की मात्रा भी तय की गई हैं। इसमें कक्षा 1 से 5 वीं तक के विद्यार्थियों को 150 एमएल तथा कक्षा 6 से 8वीं के विद्यार्थियो को 200 एमएल दूध सप्ताह में तीन दिन पिलाना सुनिश्चित किया है।

समस्त प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालय व मदरसों में कक्षा 1 से 8 तक के पढऩे वाले बच्चों को सप्ताह में 3 दिन उच्च गणुवता युक्त गर्म व ताजा दूध पिलाया जाएगा। यह दूध प्रार्थना सभा के तत्काल बाद बच्चों को दिया जाएगा। दूध वितरण के लिए सप्ताह में तीन दिन सोमवार, बुधवार व शुक्रवार अथवा मंगलवार, गुरूवार व शनिवार सुविधानुसार तय किए जा सकेंगे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned