कार्मिक, लेखा और आयोजना शाखा में जाकर आयुक्त ने किया 325 पत्रावलियों का निस्तारण

पत्रावलियों का त्वरित निस्तारण कर आमजन को राहत प्रदान करने के लिए नगर निगम ग्रेटर जयपुर (Municipal Corporation Greater Jaipur) आयुक्त यज्ञ मित्र सिंह देव (Commissioner) ने मंगलवार को निगम की विभिन्न शाखाओं में जाकर लम्बित पत्रावलियों का वहीं निस्तारण (Letter disposal) किया। सुबह कार्यालय समय शुरू होने के साथ ही आयुक्त कार्मिक शाखा पहुंचे। यहां कार्मिकों के नियमितिकरण, पेंशन तथा अनुकम्पात्मक नियुक्ति के निर्णय की 103 पत्रावलियों का निस्तारण किया।

By: Girraj Sharma

Published: 12 Jan 2021, 10:22 PM IST

कार्मिक, लेखा और आयोजना शाखा में जाकर आयुक्त ने किया 325 पत्रावलियों का निस्तारण

— नगर निगम ग्रेटर जयपुर

जयपुर। पत्रावलियों का त्वरित निस्तारण कर आमजन को राहत प्रदान करने के लिए नगर निगम ग्रेटर जयपुर (Municipal Corporation Greater Jaipur) आयुक्त यज्ञ मित्र सिंह देव (Commissioner) ने मंगलवार को निगम की विभिन्न शाखाओं में जाकर लम्बित पत्रावलियों का वहीं निस्तारण (Letter disposal) किया। सुबह कार्यालय समय शुरू होने के साथ ही आयुक्त कार्मिक शाखा पहुंचे। यहां कार्मिकों के नियमितिकरण, पेंशन तथा अनुकम्पात्मक नियुक्ति के निर्णय की 103 पत्रावलियों का निस्तारण किया। इसके बाद आयुक्त आयोजना शाखा पहुंचे, जहां उन्होंने पट्टे, निर्माण स्वीकृति, एकीकरण एवं उपविभाजन से सम्बन्धित लगभग 20 पत्रावलियों का निस्तारण किया। आयुक्त ने मुख्यालय स्थित लेखा शाखा में पहुंचकर लगभग 102 से ज्यादा पत्रावलियों का निस्तारण किया।

अनुकम्पात्मक नियुक्ति के मामलों की सूचना 7 दिवस में भिजवाने के निर्देश

आयुक्त ने सभी जोन उपायुक्तों एवं अनुभाग अधिकारियों को आदेश जारी किए है कि उनके अधीन पेंन्डिग चल रहे अनुकम्पा नियुक्ति के समस्त प्रकरणों की सूचना 7 दिवस में मुख्यालय भिजवाये। इसके अतिरिक्त समस्त प्रकरणों की जांच कर रिपोर्ट 10 दिवस में मुख्यालय भिजवाए। आयुक्त ने सभी उपायुक्तों एवं अनुभाग अधिकारियों को उनके अधीन बकाया पेंशन प्रकरणों की सूचना 7 दिवस में भिजवाने तथा समस्त प्रकरणों का परीक्षण कर 10 दिवस में रिपोर्ट प्रस्तुत करने के आदेश जारी किए।

Girraj Sharma Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned