सुप्रीम कोर्ट में बिना फीस की जाएगी अभिभावकों की पैरवी

संयुक्त अभिभावक संघ का अधिकार पत्र हस्ताक्षर अभियान आज से
हर अभिभावक का पक्ष उच्चतम न्यायालय के समक्ष पंहुचाएगा संघ

By: Rakhi Hajela

Updated: 12 Feb 2021, 01:51 PM IST

सुप्रीम कोर्ट की ओर से स्कूल फीस को लेकर दिए गए आदेश के बाद अभिभावकों की परेशानी बढ़ गई है। अभिभावकों का कहना है कि उनके लिए पूरे साल की फीस देना संभव नहीं है। एेसे में संयुक्त अभिभावक संघ अभिभावकों की मदद के लिए आगे आया है। संघ ने प्रदेश के सभी अभिभावकों का पक्ष सुप्रीम कोर्ट में रखने का दायित्व उठाया है। संयुक्त अभिभावक संघ के पदाधिकारियों एवं सदस्यों ने कोरोनाकाल में आर्थिक समस्याओं से संघर्षरत अभिभावकों के आर्थिक हालातों को देखते हुए अपने निजी एवं व्यक्तिगत स्रोतों से व्यवस्था कर प्रदेश के हर अभिभावक का पक्ष सुप्रीम कोर्ट के सामने दाखिल करने का फैसला लिया है।

अधिकार पत्र हस्ताक्षर अभियान आज से
इसके लिए संघ की ओर से अधिकार पत्रहस्ताक्षर अभियान की शुरुआत शुक्रवार से की जा रही है। राजधानी जयपुर में शहीद स्मारक पर १५ फरवरी तक हेल्प कैम्प का आयोजन किया जा रहा है। राजधानी के बाद प्रदेश के अन्य जिलों में भी इसी प्रकार के कैम्प आयोजित किए जाएंगे। अभिभावकों को वकीलों की महंगी फीस की चिंता करने की जरूरत नहीं होगी। संघ से सम्बद्ध हर अभिभावक, अभिभावक शिक्षक समिति की लड़ाई को आगे ले जाने वाले विभिन्न संगठनों की ओर से सुप्रीम कोर्ट में बिना कोई फीस के पैरवी की जाएगी।

एेसे मिल सकेगी मदद
: अभिभावकों को संघ की ओर से दी गई समय सारिणी के मुताबिक नीयत स्थान पर पहुंच कर अधिकार पत्र पर हस्ताक्षर करने होंगे और मौके पर मौजूद सदस्य को अपनी समस्या और पक्ष की जानकारी देनी होगी।
: अभिभावक-शिक्षक समिति से संबंधित लोगों को अपनी समिति की ओर से वकालतनामा एवं न्यायालय में अपनी ओर से रखा जाने वाला पक्ष के साथ संयुक्त अभिभावक संघ की संबद्धता प्राप्त करने के लिए संबद्धता फॉर्म भरना होगा।
: जो अभिभावक अभिभावकों के आंदोलन से जुडे़ रहे हैं या शिक्षा पर काम करने वाली समाज सेवी संगठन हैं तो उन्हें संयुक्त अभिभावक संघ की संबद्धता प्राप्त करने के लिए संबद्धता फॉर्म भर कर देना है।

इनका कहना है,
अब अभिभावकों को सुप्रीम कोर्ट में पैरवी के लिए मंहगी फीस की ङ्क्षचता करने की जरूरत नहीं होगी। फीस मुद्दे की लड़ाई को आगे ले जाने के लिए बिना कोई फीस के पैरवी की जाएगी। इसके लिए अभिभावकों को अधिकार पत्र भरना होगा।
अभिषेक जैन बिट्टू, प्रवक्ता
संयुक्त अभिभावक संघ।

Rakhi Hajela Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned