धार्मिक और सामाजिक वैमनस्यता फैला रहे हैं बीटीपी कार्यकर्ता, कटारिया ने लिखा डीजीपी को पत्र

नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने भारतीय ट्राइबल पार्टी (बीटीपी) पर जनजाति क्षेत्र में धार्मिक और सामाजिक वैमनस्यता फैलाने का आरोप लगाया है। कटारिया ने डीजीपी भूपेंद्र यादव को पत्र लिखकर बीटीपी कार्यकर्ता और इस काम में लिप्त अन्य लोगों पर कानूनी कार्रवाई की मांग की है।

By: Umesh Sharma

Published: 07 Sep 2020, 05:18 PM IST

जयपुर।

नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने भारतीय ट्राइबल पार्टी (बीटीपी) पर जनजाति क्षेत्र में धार्मिक और सामाजिक वैमनस्यता फैलाने का आरोप लगाया है। कटारिया ने डीजीपी भूपेंद्र यादव को पत्र लिखकर बीटीपी कार्यकर्ता और इस काम में लिप्त अन्य लोगों पर कानूनी कार्रवाई की मांग की है।

कटारिया ने कहा कि बीटीपी कार्यकर्ता लगातार दक्षिणी राजस्थान में जनजाति संस्कृति को नुकसान पहुंचा रहे हैं। सोशल मीडिया पर अनर्गल संदेश प्रसारित कर सामाजिक सोहार्द्र बिगाड़ने का प्रयास किया जा रहा हैं बीटीपी समर्थकों ने क्षेत्र के विभिन्न मंदिरों से पताकाएं हटाकर अराजकता फैलाने वाले नारे लगाए। सोनार माता मंदिर सलूम्बर उदयपुर में धर्म ध्वजा को हटाकर बीटीपी का झंड़ा लगा दिया गया। यही नहीं पुजारी-भक्तों के साथ मारपीट कर अराजकता फैलाई गई। कटारिया ने पत्र में लिखा है कि विरोध करने वाले लोगों को धमकियां दी जा रही है। बीटीपी इन गतिविधियों से समस्त जनजाति संत समाज आहत और उद्वेलित है, जिससे क्षेत्र में कानून व्यवस्था बिगड़ने का पूरा अंदेशा है। इस सिलसिले में उन्होंने शुक्रवार को जिला कलेक्टर और राज्यपाल के नाम ज्ञापन भी सौंपा था। इसलिए पुलिस इन कार्यकर्ताओं के खिलाफ कार्रवाई करे, ताकि संत समाज में फैला रोष हटे।

Umesh Sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned