scriptGulf of Death: One lakh complaints from our workers | मौत की खाड़ी: हमारे कामगरों ने की एक लाख शिकायतें | Patrika News

मौत की खाड़ी: हमारे कामगरों ने की एक लाख शिकायतें

अच्छे वेतन और नौकरी का सपना दिखाकर कई एजेंट हमारे युवाओं को खाड़ी देश ले जाते हैं. लेकिन वहां पहुंचते ही कइयों के साथ शोषण का सिलसिला शुरू हो जाता है। अच्छी कमाई की आस में खाड़ी देशों का रुख करने वाले कई कामगार यातनाओं का शिकार हो रहे हैं। इन देशों में स्थित भारतीय मिशनों और केंद्रों को छह साल में एक लाख से ज्यादा शिकायतें मिली हैं।

जयपुर

Published: June 02, 2022 10:42:16 pm

अच्छे वेतन और नौकरी का सपना दिखाकर कई एजेंट हमारे युवाओं को खाड़ी देश ले जाते हैं. लेकिन वहां पहुंचते ही कइयों के साथ शोषण का सिलसिला शुरू हो जाता है। अच्छी कमाई की आस में खाड़ी देशों का रुख करने वाले कई कामगार यातनाओं का शिकार हो रहे हैं। इन देशों में स्थित भारतीय मिशनों और केंद्रों को छह साल में एक लाख से ज्यादा शिकायतें मिली हैं।

राजस्थान
राजस्थान

कुवैत की स्थिति सबसे खराब
भारतीय कामगारों ने सबसे ज्यादा 36570 शिकायतें सऊदी अरब में की हैं। इसके बाद कुवैत में 21,977 शिकायतें मिली हैं। वहीं इस साल नवम्बर में होने वाले फीफा वर्ल्ड कप की मेजबानी कर रहे कतर में यातना की 19 हजार से ज्यादा शिकायतें प्राप्त हुई। सबसे ज्यादा शिकायतें वेतन न मिलने, छुट्टी नहीं देेने, मेडिकल बीमा और एक्जिट या रि-एंट्री वीजा देने से इनकार करने से जुड़ी हैं।

कामगारों का 1200 करोड़ रुपए बकाया
एक अध्ययन के मुताबिक खाड़ी देशों में हमारे कामगारों के 1200 करोड़ रुपए से ज्यादा बकाया हैं। कामगारों ने खाड़ी की कई कंपनियों पर वेतन चोरी करने के आरोप लगाते हुए शिकायतें दर्ज करवाई हैं। कंपनियां कर्मचारियों को मिलने वाले लाभों से वंचित रखती है। बोनस और ओवरटाइम के भुगतान में आनाकानी की जाती है।

तत्काल कार्रवाई व मदद का दावा

विदेश मंत्रालय के अनुसार, शिकायत मिलते ही भारतीय मिशनों की ओर से तुरंत कार्रवाई की जाती है। दूतावासों के अधिकारी भी नियोक्ताओं से संपर्क करते हैं।

ज्यादातर ये शिकायतें

  • वेतन व ओवरटाइम का भुगतान नहीं करना
  • वैध श्रम अधिकारों और लाभों से इनकार करना
  • निवास परमिट जारी व नवीनीकृत ना करना
  • अधिक समय तक कार्य लेना
  • भारत जाने के लिए निकासी या पुन: प्रवेश अनुमति देने से मना करना
  • अनुबंध पूरा होने के बाद अंतिम रूप से निकासी वीजा के समय भारत लौटने की अनुमति देने से इनकार करना
  • चिकित्सा एवं बीमा सुविधा का प्रावधान नहीं होना
newsletter

Anand Mani Tripathi

आनंद मणि त्रिपाठी (@aanandmani) राजनीति, अपराध, विदेश, रक्षा एवं सामरिक मामलों के पत्रकार हैं। पत्रकारिता के तीनों माध्यम प्रिंट, टीवी और आनलाइन में गहरा और अपनी तेज तर्रार रिपोर्टिंग के लिए जाने जाते हैं। पश्चिम बंगाल के कलकत्ता में जन्म हुआ। प्रारंभिक शिक्षा उत्तर प्रदेश के कानपुर और बस्ती में हुई। माध्यमिक शिक्षा नवोदय विद्यालय बस्ती, फैजाबाद और पूर्वोत्तर त्रिपुरा के धलाई जिले में हुई। अयोध्या के साकेत महाविद्यालय से स्नातक और 2009 में जेआईआईएमसी,दिल्ली से पत्रकारिता का डिप्लोमा किया। हरियाणा से पत्रकारिता आरंभ की। शिक्षा, विज्ञान, मौसम, रेलवे, प्रशासन, कृषि विभाग और मंत्रालय की रिपोर्टिंग की। इंवेस्टिगेटिव रिपोर्टिंग से शिक्षा और रेलवे विभाग के कई भ्रष्टाचार का खुलासा किया। रक्षा मंत्रालय के रक्षा संवाददाता पाठयक्रम-2016 पूरा किया। इसके बाद रक्षा मामलों की पत्रकारिता शुरू कर दी। चीन, पाकिस्तान और कश्मीर मामलों पर तीक्ष्ण नजर रहती है। लेफ्टिनेंट उमर फैयाज की हत्या 2017, राइफलमैन औरंगजेब की हत्या 2018, जम्मू—कश्मीर में बदले 2018 में बदले राजनीतिक समीकरण, पुलवामा हमला 2019, कश्मीर से 370 का हटना, गलवान घाटी मुठभेड़ 2020 को बेहद करीब से जम्मू और कश्मीर में रहकर ही कवर किया। कोरोना काल 2020 में भी लददाख से नेपाल तक की यात्रा चीन के बदलते समीकरण को लेकर की। इसके साथ ही लोकसभा चुनाव 2019 में जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा और पंजाब की रिपोर्टिंग की। 9 नवंबर 2019 को श्रीराम जन्म भूमि अयोध्या मामले में आए फैसले की अयोध्या से कवर किया। 2022 उत्तरप्रदेश् चुनाव को सहारनपुर से सोनभद्र तक मोटर साइकिल के माध्यम से कवर किया। पत्रकारिता से इतर आनंद मणि त्रिपाठी को संगीत और पर्यटन का जबरदस्त शौक है। इन्हें किसी भी कार्य में असंभव शब्द न प्रयोग करने के लिए जाना जाता है...

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Maharashtra Assembly Speaker Election: महाराष्ट्र में विधानसभा स्पीकर का चुनाव आज, भाजपा और महा विकास अघाड़ी के बीच सीधी टक्करहैदराबाद : बीजेपी की बैठक का आज दूसरा दिन, पीएम मोदी करेंगे संबोधितMaharashtra Politics: सीएम शिंदे और डिप्टी सीएम फडणवीस को गर्वनर भगत सिंह कोश्यारी ने खिलाई मिठाई, तो चढ़ गया सियासी पारा!NIA की टीम ने केमिस्ट की हत्या की जांच के लिए महाराष्ट्र के अमरावती का किया दौराउदयपुर हत्याकांड का साइडइफेक्ट! मुस्लिम फेरीवालों से सामान खरीदने पर 5100 रुपए का जुर्माना, ग्राम पंचायत का लेटर पैड वायरलकौन है डॉक्टर महरीन काजी, जिनसे IAS अतहर आमिर करने जा रहे दूसरी शादीUdaipur murder case: गुस्साए वकीलों ने कन्हैया के हत्यारों के जड़े थप्पड़, देखें वीडियोजयपुर में केमिकल फैक्ट्री में लगी भीषण आग, एक किलोमीटर दूर तक दिखाई दे रहा धुएं का गुबार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.