गुर्जर आन्दोलन को टालने के लिए गहलोत सरकार के बड़े फैसले, जानें कौन सी मांग मानी कौन सी दरकिनार

रीट और नर्सिंग भर्ती में सृजित नहीं हो सकेंगे एमबीसी के लिए अतिरिक्त पद, विभिन्न भर्तियों में 1409 पद आरक्षित, अब तक 2191 को मिली सरकारी नौकरी

By: nakul

Published: 12 Oct 2020, 07:37 AM IST

जयपुर।

रीट 2018 और नर्सिंग भर्ती 2013 में अति पिछड़ा वर्ग (एमबीसी) के लिए अतिरिक्त पद सृजित नहीं हो सकेंगे। राज्य सरकार ने स्पष्ट किया है कि इन भर्तियों में 5 फीसदी आरक्षण के तहत लाभ नहीं दिया जा सकेगा। इसका कारण है कि इन दोनों परीक्षाओं की प्रक्रिया में नियुक्ति आदेश 5 प्रतिशत आरक्षण की अधिसूचना जारी होने से पहले जारी हो चुके थे। उस समय भर्तियों में अति पिछड़ा वर्ग को 1 प्रतिशत आरक्षण देने का ही प्रावधान था।

वहीं नर्सिंग भर्ती परीक्षा-2013 की विज्ञप्ति एवं परिणाम जारी होने के समय 1 प्रतिशत आरक्षण का ही प्रावधान था। वर्तमान में एएनएम भर्ती 2018 भी संपन्न हो चुकी हैं। इस कारण से इन भर्तियों में 4 प्रतिशत अतिरिक्त पद सृजित नहीं किए जा सके। रीट-2018 लेवल प्रथम के तहत भी जिला परिषदों ने नियुक्ति आदेश 5 प्रतिशत आरक्षण की अधिसूचना जारी होने के पहले ही जारी किए। इसलिए रीट-2018 में भी अब 4 प्रतिशत अतिरिक्त पद सृजित करने में विधिक अड़चन है। गुर्जर समाज रीट, नर्सिंग भर्तियों सहित सभी प्रक्रियाधीन भर्तियों में पांच प्रतिशत आरक्षण के तहत अतिरिक्त पदों का लाभ देने की लगातार मांग कर रहा है।

राज्य सरकार के अनुसार वर्ष 2008 में तत्कालीन बीजेपी सरकार ने एमबीसी को 5 प्रतिशत आरक्षण देने के लिए बिल तो पारित किया परन्तु राज्यपाल ने उस पर हस्ताक्षर नहीं किए थे। इसके बाद कांग्रेस सरकार की ओर से पुरजोर प्रयास करने पर वर्ष 2009 में यह कानून लागू हुआ।

राज्य सरकार के अनुसार प्रदेश की वर्तमान अशोक गहलोत सरकार के कार्यकाल में 13 फरवरी 2019 को अति पिछड़ा वर्ग (एमबीसी) के लिए 5 प्रतिशत आरक्षण का कानून लागू होने के बाद अब तक विभिन्न विभागों में 2191 पदों पर एमबीसी वर्ग की जातियों के युवाओं को सरकारी नौकरियां मिली हैं। भविष्य में होने वाली भर्तियों में भी एमबीसी के लिए 1409 अतिरिक्त पद सृजित कर आरक्षित किए गए हैं।

नई और पुरानी सभी भर्तियों में अतिरिक्त पदों का लाभ
राज्य सरकार के अनुसार विशेष प्रयासों के तहत 13 फरवरी 2019 को 5 प्रतिशत आरक्षण का प्रावधान लागू करते समय प्रक्रियाधीन सभी भर्तियों में इसका लाभ दिया। यहां तक कि जिन भर्तियों के लिए परीक्षा परिणाम आ चुका था लेकिन नियुक्तियां नहीं दी गई थी, उनमें भी अतिरिक्त पद सृजित कर आरक्षण का लाभ दिया गया।

आरएएस के 2016 में 26 और 2018 में 22 अतिरिक्त पदों पर चयन

सरकार ने कहा कि वर्तमान सरकार ने नई भर्ती विज्ञप्तियों के साथ पूर्व में विज्ञापित हो चुकी प्रक्रियाधीन भर्तियों में भी गुर्जरों सहित अन्य एमबीसी वर्ग की जातियों को 5 प्रतिशत आरक्षण का लाभ दिया है। इसके चलते आरएएस परीक्षा 2016 में इस वर्ग के 26 अतिरिक्त अभ्यर्थियों का चयन किया गया एवं आरएएस परीक्षा 2018 में 22 अतिरिक्त अभ्यर्थियों का चयन किया जाएगा।


आरएएस भर्ती परीक्षा 2016 में एमबीसी वर्ग के अतिरिक्त पद
सेवा —— 5 फीसदी आरक्षण के चलते अतिरिक्त चयन

राजस्थान प्रशासनिक सेवा 04
राजस्थान पुलिस सेवा 03

राजस्थान लेखा सेवा 07
राजस्थान खाद्य एवं नागरिक रसद सेवा 01

राजस्थान महिला एवं बाल विकास सेवा 01
राजस्थान तहसीलदार सेवा 10

आरएएस भर्ती परीक्षा 2018 में एमबीसी वर्ग के अतिरिक्त पद

सेवा —— 5 फीसदी आरक्षण के चलते अतिरिक्त चयन
राजस्थान प्रशासनिक सेवा 04

राजस्थान पुलिस सेवा 02
राजस्थान लेखा सेवा 05

राजस्थान सहकारी सेवा 01
राजस्थान महिला एवं बाल विकास सेवा 03

राजस्थान ग्रामीण विकास सेवा 02
राजस्थान तहसीलदार सेवा 05

Show More
nakul Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned