गुर्जरों ने नकारे सरकार के फैसले, नेता बोले- ‘सरकार कर रही समाज को गुमराह, अब अपने तरीके से लेकर रहेंगे हक़’

- आरक्षण मामले में गुर्जर V/S सरकार, गुर्जरों ने ठुकराए सरकार के फैसले, कर्नल बैंसला के पुत्र गुर्जर नेता विजय बैंसला की प्रतिक्रिया, कहा- ‘सरकार कर रही समाज को गुमराह’, ‘बिना नाम, सिग्नेचर, अधिकृत स्रोत जारी किया कागज़’, चेतावनी, ‘अब समाज अपने तरीके से लेकर रहेगा हक़’, ‘सरकार आन्दोलन को न्योत रही है’, गतिरोध तोड़ने के लिए कल रात सरकार ने लिए हैं कई फैसले



By: nakul

Published: 12 Oct 2020, 08:43 AM IST

जयपुर।

गुर्जर आरक्षण मामले में गुर्जर समाज और सरकार के बीच गतिरोध टूटने का नाम नहीं ले रहा है। सरकार की ओर से रविवार को समाज की आरक्षण सम्बन्धी विभिन्न मांगों पर लिए गए फैसलों को गुर्जर समाज ने ठुकरा दिया है। समाज के नेताओं ने सरकार पर गुमराह करने का आरोप लगाते हुए एक बार फिर आन्दोलन पर उतरने की चेतावनी दी है।

गुर्जर आरक्षण आन्दोलन के संयोजक कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला के पुत्र व गुर्जर नेता विजय बैंसला ने कहा है कि सरकार एक सादे कागज़ में फैसले जारी कर समाज को गुमराह कर रही है। उन्होंने कहा कि सरकार के लिए कथित फैसले के जारी कागज़ में ना तो कोई नाम है, ना किसी के हस्ताक्षर हैं और ना ही कोई अधिकृत स्रोत।

बैंसला ने कहा कि सरकार के ये फैसले समाज को मान्य नहीं हैं। उन्होंने सरकार को चेताते हुए कहा कि समाज अब अपने तरीके से अपना हक लेगा। यह बात समाज 'अधिकृत तौर से' सरकार से कह रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार खुद आंदलोन को न्योत रही है।

उधर, गुर्जर नेता हिम्मत सिंह गुर्जर ने भी सरकार की ओर से बताये जा रहे फैसले को खारिज किया है। उन्होंने कहा है कि एमबीसी आरक्षण के सम्बन्ध में जारी किये गए आंकड़े ग़लत और भ्रामक हैं। ये आंकड़े एमबीसी वर्ग को उद्वेलित करने वाले हैं।

गुर्जर नेता ने इन आँकड़ों को चैलेंज करते हुए लाइव डिबेट तक करवाने की बात कही है। उन्होंने कहा कि इन फैसलों पर डिबेट करवाई जाए और केबिनेट सब कमेटी के मंत्री को बैठाया जाए, पता चल जायेगा सरकार की सच्चाई का।

nakul Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned