अब गुर्जर समाज के एक धड़े ने की CM Ashok Gehlot 'अभिनन्दन' की तैयारी, जानें क्यों दिलचस्प हुआ 'सियासी गणित'?

उपचुनाव से पहले रोचक बन रही सियासी स्थितियां, गुर्जर वोट बैंक में 'बिखराव' से दिलचस्प हो गई है ‘गणित’, एक धड़ा कांग्रेस को, तो दूसरा धड़ा भाजपा को कर रहा खुलकर सपोर्ट, बैंसला गुट ने किया था सतीश पूनिया का अभिनंदन, अब गहलोत का अभिनंदन करने की तैयारी में हिम्मत सिंह गुट, सुप्रीम कोर्ट में आरक्षण व्यवस्था की पैरवी से खुश है बैंसला विरोधी गुट

 

By: nakul

Published: 25 Mar 2021, 10:45 AM IST

जयपुर।

प्रदेश में गुर्जर समाज का एक धडा जहां खुलकर भाजपा के पक्ष में आ उतरा है, तो वहीं एक अन्य धड़े ने अब कांग्रेस की गहलोत सरकार के समर्थन में खुलकर आने के संकेत दे दिए हैं। प्रदेश की चार विधानसभा सीटों पर हो रहे उपचुनाव से पहले गुर्जर समाज के दोनों गुट का प्रतिद्वंदी राजनीतिक दलों के पक्ष में उतरने से सियासी गणित दिलचस्प बनती जा रही है।

 

बैंसला और हिम्मत सिंह गुट फिर आमने-सामने
गुर्जर समाज में कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला व उनके पुत्र विजय बैंसला का खेमा और उनके विरोधी गुट गुर्जर नेता हिम्मत सिंह का खेमा एक बार फिर खुलकर आमने-सामने है। बीते दिनों बैंसला गुट ने भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनियां का अभिनन्दन करके जहां भाजपा को पूरी तरह से समर्थन देने का ऐलान किया था, वहीं अब हिम्मत सिंह गुट ने गहलोत सरकार का अभिनन्दन करने का मन बनाया है। इसके लिए गुर्जर नेता हिम्मत सिंह ने गुर्जर समाज के प्रतिनिधियों के साथ मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मिलने का वक्त तक माँगा है।

 

इसलिए किया जाएगा सीएम गहलोत का ‘अभिनंदन’
गुर्जर समाज का हिम्मत सिंह गुट दरअसल, प्रदेश में आरक्षण व्यवस्था को लेकर गहलोत सरकार की ओर से सुप्रीम कोर्ट में की गई पैरवी से बेहद खुश है। हिम्मत सिंह ने कहा है कि सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में 50 प्रतिशत से अधिक आरक्षण और 5 प्रतिशत एमबीसी को आरक्षण देने की मज़बूत पैरवी की है। साथ ही केंद्र सरकार द्वारा 102वें संविधान संशोधन का विरोध किया है। उन्होंने इस पैरवी के लिए सरकार और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का आभार जताया।

 

गुर्जर नेता हिम्मत सिंह ने सरकार से पिछले साल की 31 अक्टूबर को हुए समझौते की पालना की भी अपील की है। समझौते के बिन्दु 14 में एमबीसी वर्ग के अभ्यर्थियों को रीट भर्ती- 2018 के प्रथम लेवल में 372 छाया पद देने और बिन्दु 12 की पालना करने का अनुरोध किया गया है।

 

इधर, भाजपा के सपोर्ट में बैंसला गुट
गुर्जर नेता किरोड़ी बैंसला के पुत्र विजय बैंसला के नेतृत्व में गुर्जर प्रतिनिधियों ने हाल ही में भाजपा कार्यालय पहुंचकर भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया का स्वागत-अभिनन्दन किया और उपचुनाव में भाजपा को पूरे दमखम के साथ सहयोग देने का ऐलान किया।

‘बिखरा’ हुआ है गुर्जर वोट बैंक!
प्रदेश की चार विधानसभा सीटों में से दो सीटों राजसमन्द और भीलवाड़ा की सहाड़ा में गुर्जर मतदाताओं की अच्छी खासी संख्या है। हर बार की तरह इस बार भी दोनों प्रमुख राजनीतिक दल कांग्रेस-भाजपा इस ‘वोट बैंक’ को साधने की कोशिशों में जुटे हैं। लेकिन चुनाव पूर्व समाज के दो धडों का अलग-अलग पार्टियों की ओर झुकाव और पक्ष में आने से इनमें बिखराव की स्थिति बन गई है।

 

वहीं कांग्रेस में सचिन पायलट फैक्टर भी खासा मायने रख रहा है। इन सभी पहलुओं को देखते हुए सियासी परिस्थितियां बेहद दिलचस्प बंटी जा रही हैं। सभी की नज़रें इस बात पर हैं कि आखिर उपचुनाव में गुर्जर समाज के मतदाता ईवीएम में किस पार्टी के उम्मीदवार के नाम और निशान पर बटन दबायेंगे।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned