गुर्जर महापंचायत में अपने समर्थकों के साथ पहुंचे पूर्व मंत्री विश्वेन्द्र सिंह के पुत्र अनिरुद्ध सिंह

भरतपुर। राजस्थान में गुर्जर आरक्षण का मुद्दा फिर गरमा गया है। इसे लेकर भरतपुर जिले के बयाना के अड्डा गांव में गुर्जर महापंचायत जारी है।

By: santosh

Published: 17 Oct 2020, 03:48 PM IST

भरतपुर। राजस्थान में गुर्जर आरक्षण का मुद्दा फिर गरमा गया है। इसे लेकर भरतपुर जिले के बयाना के अड्डा गांव में गुर्जर महापंचायत जारी है। महापंचायत में अब तक करीब तीन हजार लोग पहुंच चुके हैं। लोगों के आने का सिलसिला जारी है। महापंचायत में करीब 80 गांवों के लोगों को बुलाया गया है।

पूर्व पर्यटन मंत्री और डीग कुम्हेर से विधायक विश्वेन्द्र सिंह के पुत्र अनिरुद्ध सिंह भी अपने समर्थकों के साथ सभास्थल पर पहुंचे हैं। महापंचायत में कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला के आने का इंतजार किया जा रहा है। महापंचायत के मद्देनजर मौके पर पुलिस बल तैनात किया गया हैं। जिले के बयाना, वैर, भुसावर, रूपवास समेत कई जगह शुक्रवार रात 12 बजे से इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई हैं।

पुलिस के अनुसार कानून एवं सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने के लिए पुलिस के कई बड़े अधिकारियों सहित दो हजार से अधिक पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं। रेल पटरियों की सुरक्षा के लिए भी व्यवस्था की गई हैं। गुर्जर समाज आरक्षण को केन्द्र की नौवीं अनुसूची में शामिल करने, बैकलॉग की भर्तियां निकालने एवं प्रक्रियाधीन भर्तियों में पूरा पांच प्रतिशत आरक्षण का लाभ देने, एमबीसी कोटे से भर्ती हुए 1252 कर्मचारियों को नियमित करने, आंदोलन के शहीदों के परिजनों को नौकरी एवं मुआवजा तथा मुकदमों को वापस लेने की मांग कर रहा है।

उधर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनियां ने प्रदेश की कांग्रेस सरकार पर इस समस्या को उलझाने का आरोप लगाते हुए कहा है कि इस समस्या को कांग्रेस सरकार ने उलझाया है। वह हमेशा आश्वासन देते रहे और नतीजा गुर्जर सड़कों पर उतर रहे हैं जबकि सरकार की जिम्मेदारी हैं और वह अपनी जिम्मेदारी से भाग रही है। उन्होंने कहा कि सरकार को इसका कोई समाधान करके प्रदेश की शांति व्यवस्था का ध्यान रखना चाहिए।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned